September 20, 2021 4:55 am
featured करियर बिज़नेस साइन्स-टेक्नोलॉजी

रूस में क्या है करियर की संभावना? जानिए एक भारतीय की जुबानी

foto 1 51 रूस में क्या है करियर की संभावना? जानिए एक भारतीय की जुबानी

भारत से रूस में पढ़ने जाने वाले छात्रों ने अपने अनुभवों को साझा किया है। जिसमें उन्होंने बताया कि क्यों भारतीय छात्र पढ़ने और काम करने के लिए रूस को पसंद करते हैं।

रूस में क्या है करियर की संभावना ? जानिए एक भारतीय की जुबानी

आजकल विज्ञान में सक्रिय रूप से विकास करने की चाहत रखने वाले युवा और छात्र विदेशों में पढ़ना पसंद करते हैं। युवाओं को विदेशों में अनुभव हासिल करना और उनकी सांस्कृतिक विशेषताओं के बारे में सीखना महत्वपूर्ण लगता है। इसी को लेकर भारत के युवा पेशेवर जो वर्तमान में साउथ यूराल स्टेट यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे हैं, ने स्पुतनिक के साथ अपने अनुभव साझा किए। जिसमें उन्होंने भारतीय छात्रों के रूस में ही पढ़ाई के लिए जाने के बारे में जानकारी दी।

हायर स्टडी को युवाओं की पहली पसंद बनता रूस

उपासक बोस ने कहा कि “मैंने अपनी ग्रुजुएशन के दौरान पहले ही कई रिसर्च पेपर लिखे हैं, जिससे मुझे अंडर ग्रेजुएट की पढ़ाई करने और सरकारी छात्रवृत्ति लेने में मदद मिली। लेकचरर हमेशा बहुत खुले होते हैं, अगर आपको कुछ समझ में नहीं आता है तो मदद और समझाने के लिए तैयार हैं। आप विज्ञान, अध्ययन और कुछ व्यक्तिगत मुद्दों के बारे में बात कर सकते हैं। मैंने पहले कभी किसी यूनिवर्सिटी में ऐसी दयालुता नहीं देखी, ”

फाइनेंस और मार्केटिंग में MBA कर चुके हैं उपासक

उपासक बोस ने फाइनेंस और मार्केटिंग में MBA किया है। साथ ही फाइनेंसियल अकाउंटेंट में डिप्लोमा भी किया है। वह पहले से ही भारत में एक प्रमुख आईटी कंपनी के लिए एक व्यापार विश्लेषक के तौर पर काम कर चुके हैं। उपासक पहले से ही छात्रों को अंग्रेजी सीखने में मदद कर रहे हैं। SUSU के प्रोफेसरों के सहयोग से वह पहले ही वैज्ञानिक पत्रिकाओं के लिए 13 लेख लिख चुके हैं।

‘रूसी शिक्षकों का उदाहरण प्रेरणादायक है’

उपासक ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि रूसी शिक्षकों का उदाहरण प्रेरणादायक है। वह भविष्य में एसयूएसयू में रहना और काम करना चाहेंगे। उपासक बोस ने कहा कि “मैं अर्थव्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय संबंधों या मेरे शोध के क्षेत्र से संबंधित लगभग सभी घटनाओं या परियोजनाओं में शामिल हूं। उदाहरण के लिए, मैंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और शंघाई सहयोग संगठन के मॉडल सम्मेलनों में भाग लिया”। बोस ने अंतर्राष्ट्रीय छात्र संघ के साथ यूनिवर्सिटी के छात्रों को भारतीय संस्कृति से परिचित कराने के लिए कई भारतीय त्योहारों, दिवाली और बंगाली नव वर्ष का आयोजन किया है।

खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं विवेक

एसयूएसयू में पढ़ाई करने वाले विवेक थेयथन वलापिल अर्थशास्त्र की पढ़ाई करते हैं। विवेक अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं। वह Entrepreneurship, Marketing और Analytics में रुची रखते हैं। विवेक का कहना है कि “जब तक मैं अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर लेता, तब तक मैं रूस में रहने की योजना बना रहा हूं, और फिर मैं एक ऐसा व्यवसाय खोलना चाहता हूं जिसे एक अंतरराष्ट्रीय कंपनी तक बढ़ाया जा सके।”

Related posts

Live- आसाराम समेत शिल्पी और शरतचंद्र दोषी, आज ही हो सकता है सजा का ऐलान

piyush shukla

 देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा अब थमी, सड़कों पर हुई अजीब सी शांति

Rani Naqvi

अल्मोड़ा: कांग्रेस के प्रदेश महासचिव आनंद रावत ने छात्रों को सिखाए शारीरिक व्यायाम के गुण

pratiyush chaubey