लखनऊ: BSP लड़ेगी खुशी दुबे का केस, सतीश मिश्रा करेंगे पैरवी

लखनऊ: यूपी में अगले साल विधानसभा चुनाव होना है। इसकी लिए सभी राजनीतिकपार्टियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। आज जहां अखिलेश यादव ने उन्नाव में दौरा किया तो वही कुछ दिन पहले मायावती ने भी प्रेस कांफ्रेस कर ब्राह्मण कार्ड खेला था। मायावती यूपी चुनाव को लेकर साफ कर चुकी है कि वह ब्राह्मणओं का साथ चाहती है इसके लिए उन्होने बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दूबे के साथी अमर दुबे की पत्नी का केस लड़ने की पैरवी का ऐलान कर दिया है। बीएसपी के महासचिव सतीश मिश्रा इस मामले में खुशी दुबे की पैरवी कोर्ट में करेंगे।

आपको बता दे कि कानपुर के बिकरू कांड में खुशी दुबे का पति अमर दुबे पुलिस एंकाउंटर में मारा गया था। इसके बाद विधवा खुशी दुबे को एक साल से बाराबंकी के एक किशोर केंद्र में बंद किया गया है। अब बीएसी के महासचिव सतीश मिश्रा खुशी दुबे की रिहाई के लिए कोर्ट में पैरवी करते नजर आएंगे।

पुलिस एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे की शादी के सात दिन बाद ही यह कांड हुआ था। खुशी दुबे पर कई गंभीर धाराएं लगाई है। खुशी दुबे पर हत्या की साजिश रचने सहित कई अन्य गंभीर धाराए लगाई गई है।

सतीश मिश्रा के पैरवी करने के मामले पर खुशी दुबे के वकील शिवकांत दिक्षित ने उनका स्वागत किया है। वकील ने कहा मुझे इस मामले की कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है। 23 जुलाई से ब्राह्मण सम्मेलन करेगी बीएसी। मायावती के ऐलान के बाद बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन करने जा रही है।

लखनऊ की पौराणिक मान्यताओं के साथ छेड़छाड से आहत थे लालजी टंडन

Previous article

सूर्य प्रताप शाही ने केंद्रीय उर्वरक मंत्री से की भेंट

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured