बुलंदशहर: हाथों में मेहंदी लगाए दूल्हे के इंतजार में बैठी रही दुल्हन, जनिए क्यों नहीं आई बारात

बुलंदशहर: अपने हाथों में प्रेमी के नाम की मेंहदी लगाए सजी बैठी प्रेमिका बारात की राह ताकती रह गए लेकिन बारात नहीं आई। मामला पुलिस तक पहुंचा तो यूपी की बलुंदशहर पुलिस ने दोनों पक्षों से बात करते हुए मामले को सुलझाने का प्रयास करने में जुट गई।

पूरा मामला ककोड़ एरिया के भदौरा गांव का है। यहां से रविवार को हापुड़ बारात जानी थी। बारात से ठीक पहले दूल्हे ने दुल्हन के परिजनों से दहेज में 1 लाख की नकदी और बाइक की डिमांड कर दी। परिजनों ने डिमांड पूरी करने से इंकार दिया तो बरात लेकर नहीं गया।

मामला ये पूरा प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा है। बुलंदशहर निवासी रवि (बदला हुआ नाम) और हापुड़ निवासी नेहा (बदला हुआ नाम) ने 9 मार्च को कोर्ट मैरिज कर ली थी। अब दोनों कपल समाज के लोगों के बीच हिंदू रीति—रिवाज से शादी करना चाहता था। रीति—रिवाज से शादी करने का झांसा देकर दुल्हन को 5 जुलाई को उसके मायके छोड़ आया था। रविवार को पूरे विधि—विधान के साथ दोनों की शादी होनी थी। अचानक उसने एक लाख रुपये की नकदी और बाइक की डिमांड कर दी। जिसे देने से दुल्हन के परिजनों ने इंकार कर दिया। बारात न पहुंचने पर पीड़ित दुल्हन अपने परिवार के साथ शिकायत लेकर थाना ककोड़ पहुंची। यहां उसने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है।

हालांकि, शिकायत मिलने पर पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है। पुलिस ने दूसरे पक्ष को भी थाने बुला लिया। वहीं, दुल्हन का कहना है कि शादी नहीं हुई तो वह आत्मदाह करेगी। दुल्हन की मां का कहना है कि बारात न आने से उनकी समाज में बदनामी हुई है।

बरेलीः जयमाल में दूल्हे को देख दुल्हन के उड़े होश, टूटी शादी

Previous article

दुल्हन को लेने जा रहा था दुल्हा, पुलिस ने भेज दिया सलाखों को पीछे, जानिए वजह

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured