Breaking News featured यूपी

सीएम योगी ने किया लोकभवन से पुस्तक विमोचन, प्रेस-कान्फ्रेंस में गिनाई उपलब्धि

सीएम योगी लाइव, लोकभवन से पुस्तक विमोचन

लखनऊ: आज बीजेपी अपने चार सालों का जश्न पूरे प्रदेश में मना रही है, इसी के तहत लोकभवन में एक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसमें यूपी सरकार के सभी कामकाज का लेखा-जोखा किताब के माध्यम से प्रस्तुत किया जायेगा।

योगी ने कहा कि जो हमने 4 साल पहले सरकार की सत्ता संभाली थी, तब कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार समेत तमाम मुद्दे प्रबल थे। अर्थव्यवस्था के मुद्दे महत्वपूर्ण रूप से शामिल सभी मामलों में पहले 3 पायदान पर कहीं नहीं टिकते थे। अब बेरोजगारी कम हुई है, प्रदेश में निवेश बढ़ा है और आम जनता की प्रति व्यक्ति आय बढ़ी है।

सीएम योगी लाइव, लोकभवन से पुस्तक विमोचन

बदली प्रदेश की किस्मत

सीएम ने कहा कि यूपी में आज के दिन ४ साल पहले भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी थी। हमने जो परिवर्तन किया है उसने यूपी को एक नई पहचान दी है। आज प्रदेश बदहाली से निकलकर विकास की तरफ़ आगे बढ़ा है। पहले हम विकास के नाम पर 3 स्थान में कहीं नहीं आते थे, आज स्थिति काफी बदली है। ease of doing business  में आज हम दूसरे स्थान पर हैं। हमारी अर्थव्यवस्था आज देश में दूसरे स्थान पर है।

योगी ने कहा आज हम नए भारत नए उत्तर प्रदेश के रूप में उभरे हैं। पहले की सरकारों ने प्रदेश के विकास के लिए केंद्र से मिलकर काम नहीं किया,  हमने आने के बाद व्यापक काम किया है। उत्तर प्रदेश के मंत्रिमंडल ने टीम वर्क के साथ काम किया है। यह वही उत्तर प्रदेश है, जहाँ केंद्र की योजनाओं में कोई स्थान नहीं होता था।

2014 में प्रधानमंत्री जी ने शपथ लेने के बाद सभी प्रदेशों को योजनायें दी, लेकिन पहले की सरकारों ने किसी भी योजना पर ध्यान नहीं दिया। आवास योजना, शौचालय योजनाओं में प्रदेश ने देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। किसानों के हितों के लिए भी उत्तर प्रदेश सरकार ने काम किया है। किसान राजनीति का हिस्सा 2014 के बाद बना, इसके पहले किसानों पर कोई ध्यान नहीं देता था।

उत्तर प्रदेश सबकी पहली पसंद

स्वच्छ भारत मिशन नारी सम्मान का प्रतीक बना, 2 करोड़ 61 लाख शौचालय हमने बनाकर देश में नंबर वन स्थान हासिल किया है। केंद्र की योजनाओं में पहले यूपी बहुत पीछे था और आज उन योजनाओं में बेहतर परफॉर्मेंस करके यूपी बहुत आगे आ गया है।

सीएम योगी ने कहा कि गन्ना किसानों के लिए भी सरकार ने बड़े स्तर पर काम किया। पहले इसी प्रदेश में कोई पर्व शांति पूर्वक नहीं होता था, 4 साल में किसी भी पर्व में कोई अशांति नहीं फैला पाया है। पहले प्रदेश में कोई आना नहीं चाहता था, लेकिन अब प्रदेश सबकी पहली पसंद है। पुलिस का भी प्रदेश में बड़े स्तर पर रिफार्म किया गया है।

किसानों के लिए किए कई काम

अपने संबोधन में उन्होंने बताया कि कृषि की 11 सिंचाई परियोजना जो दशकों से लंबित थी वो यूपी सरकार ने पूरी की। इससे किसानों को सिंचाई का फायदा हुआ, 9 और सिंचाई परियोजनाएं पूरी की जा रही हैं। किसानों के हितों के लिए लाइसेंस फ्री व्यवस्था की गई है। 230 नए मंडी स्थल बनाये गए, मंडी शुल्क में 1 फीसदी की कमी किसानों के लिए की गई।

योगी ने कहा कि 2011-12 के सर्वे में आदिवासियों को उपेक्षित छोड़ दिया था लेकिन हमारी सरकार ने आवासीय योजना थारू कोल और सहरिया जैसी जातियों के लिए दी। ग्रामीण अर्थव्यवस्था में सड़क और बिजली बहुत जरूरी थी, यूपी में बिजली की उपलब्धता पर ध्यान दिया गया। जिले में 24 तहसील पर 20 से 22 और गांवों में 16 से 18 घण्टे बिजली आ रही है। बाहरी राज्यों से सड़क कनेक्टिविटी को बेहतर किया गया है, जिला मुख्यालय को 4 लेन और तहसील को 2 लेन सड़क से जोड़ा गया है।

योगी ने कहा कि गो आश्रय स्थल शहर और गांव में संचालित है, जिनमें साढ़े 5 लाख गौवंश है। 80 हजार गौवंश हमने किसानों को दिए हैं, सरकार निराश्रित पशुओं की देखभाल के लिए किसानों को 900 rs प्रति माह भी देती है। 56 हजार एकड़ जमीन भू माफियाओं के कब्जे से छुड़ाई गयी जमीन से प्रदेश में लैंड बैंक बनी।

भूमि हीन लोगों को पट्टा भी जारी किया गया, निवेश परियोजनाओं से 35 लाख युवाओं को रोजगार मिला। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आने के बाद डकैती में 65%, हत्या में 19%, बलात्कार में 45% की कमी आई है। प्रदेश में 1 करोड़ 80 लाख रोजगार का सृजन msme से हुआ है।

निर्मल हो रही गंगा की धारा

साथ ही गंगा की अविरल धारा 1000 किमी तक यूपी में है। नमामि गंगे परियोजना से पहले कानपुर में 14 करोड़ लीटर सीवर गिरता था, जलीय जीव खत्म हो रहे थे। सीएम योगी ने कहा कि प्रयाग और वाराणसी में भी हालत खराब थे, लेकिन गंगा अब बदली हुई है। देश का पहला जल मार्ग हल्दिया से वाराणसी तक बनकर तैयार हो चुका है।

गंगा हमारी अर्थव्यवस्था का भी आधार है, पहली बार गंगा यात्रा का आयोजन उत्तर प्रदेश में हुआ था, जिससे आस्था के साथ अर्थव्यवस्था मजबूत हो सके। गरीब पहले सिर्फ नारो तक सीमित थे, हमारी सरकार में गरीबो के लिए कई योजनाएं चलाई हैं।

साथ ही सीएम ने कहा कि 80 हजार राशन की दुकानों E-POS मशीन के साथ जोड़ी गई हैं। पोर्टेबिलटी व्यवस्था से राशन की सुविधा अब देश में कहीं भी ली जा सकती है, इससे 1200 करोड़ का राजस्व बचा है।

सीएम ने कहा शिक्षा में नकल माफियाओं के तंत्र गहरा था लेकिन अब हमने जड़ से उसे खत्म कर दिया। बेसिक शिक्षा परिषद में आपरेशन कायाकल्प लागू कर सवा लाख स्कूल में इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराया गया है। सहारनपुर, अलीगढ़ और आजमगढ़ में 3 नए विवि बनाये। अभ्युदय योजना के जरिये 18 लाख प्रतियोगी परीक्षार्थी जुड़े हैं।

बेहतर हुई हैं स्वास्थ्य व्यवस्थायें

सभी 18 मंडलों में अटल आवासीय विद्यालय रजिस्टर्ड श्रमिको के लिए बनाए। स्वास्थ्य क्षेत्र में यूपी सबसे कमजोर माना जाता था। हमने 30 नए मेडिकल कॉलेज बनवाने का फैसला किया, 2 एम्स संचालित हो रहे है। इंसेफ्लाइटिस से अस्पतालों में बहुत मौतें होती थीं लेकिन हमारी सरकार ने इंसेफ्लाइटिस पर 75 फीसदी तक काबू पा लिया है।

बेहतर हो रही यातायात की सुविधा

यूपी में पहले 2017 तक 2 एक्सप्रेस-वे थे, आज 5 एक्सप्रेस-वे बन रहे हैं। 2017 तक लखनऊ और वाराणसी समेत सिर्फ 2 एयरपोर्ट थे, आज 8 कार्यरत हैं। प्रदेश में 3 नए इंटरनेशनल एयरपोर्ट बन रहे हैं।जेवर, कुशीनगर, और अयोध्या में इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी बन रहे हैं। 17 नए एयरपोर्ट पर हम काम कर रहे हैं। 2017 तक एक भी शहर मेट्रो से नहीं जुड़ा था। आज लखनऊ, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, कानपुर में भी सुविधा जल्द शुरू होने वाली है।

Related posts

लेफ्टिनेंट गवर्नर, जी सी मुर्मू ने शिक्षा विभाग की एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की

Shubham Gupta

50 हजार रुपए के लिए पति ने अपनी पत्नी को बेचा

Pradeep sharma

जीएसटी भारत में आर्थिक सक्रियता सुनिश्चित करेगा: ओबामा

bharatkhabar