Breaking News featured देश

बॉम्बे हाईकोर्ट ने बरी किया दुष्कर्म का आरोपी, जज ने कहा- ‘पीड़िता को पकड़ना और कपड़े उतारना, अकेले व्यक्ति के लिए संभव नहीं’

WhatsApp Image 2021 01 30 at 1.27.59 PM बॉम्बे हाईकोर्ट ने बरी किया दुष्कर्म का आरोपी, जज ने कहा- 'पीड़िता को पकड़ना और कपड़े उतारना, अकेले व्यक्ति के लिए संभव नहीं'

मुम्बई। आए दिन अदालतों द्वारा किसी ने किसी मुकदमें में फैसला सुनाया जाता है। लोअर कार्ट के बाद हाई कोर्ट, हाई कोर्ट के बाद सुप्रीम कोट। ऐसे में कई बार अगल अगल जजों की राय आपस में टकरा जाती है। हमने कई बार देखा है जब एक अदालत का फैसला उससे उंची अदालत ने बदला है। ऐसा ही कुछ इन दिनों हो रहा है। पिछले दिनों बंबई उच्च न्यायालय के नागपुर पीठ की न्यायमूर्ति पुष्पा गनेदीवाल तब आई थीं जब उन्होंने एक 12 वर्षीय लड़की के स्तन को छूने के आरोपी व्यक्ति को बरी कर दिया था। और अब गनेदीवाल ने हाल ही में दुष्कर्म के एक आरोपी को बरी कर दिया है।

दरअसल, बंबई उच्च न्यायालय के नागपुर पीठ की न्यायमूर्ति पुष्पा गनेदीवाल ने हाल ही में दुष्कर्म के एक आरोपी को बरी कर दिया है। अपने आदेश में न्यायमूर्ति गनेदीवाल का कहना है कि एक अकेले आदमी के लिए पीड़िता का मुंह बंद करना और बिना किसी हाथापाई के एक ही समय में उसके और अपने कपड़े उतारना असंभव लगता है।

गनेदीवाल पहली बार चर्चा में तब आई थीं जब उन्होंने एक 12 वर्षीय लड़की के स्तन को छूने के आरोपी व्यक्ति को बरी कर दिया था क्योंकि उनके बीच त्वचा से त्वचा का संपर्क नहीं बना था। इसके बाद उन्होंने आदेश दिया था कि पांच साल की बच्ची का हाथ पकड़ना और उसके सामने पैंट की जिप खोलना पॉक्सो अधिनियम के तहत यौन शोषण के दायरे में नहीं आता है।

 

Related posts

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले का मामला पहुंचा SC, नीलामी की प्रक्रिया जारी रहेगी

Rani Naqvi

मेरे साथ साथ अमरिंदर सिंह और मनोहर पर्रिकर पर भी दर्ज कराई जाए एफआईआरः केजरीवाल

Rahul srivastava

बारिश के कारण रद्द हुआ पीएम मोदी का रूद्रप्रयाग दौरा, मोबाइल के जरिए किया लोगों को संबोधित

Rani Naqvi