ईरान 1 ईरान में तेहरान स्थित इमाम खोमेनी एयरपोर्ट पर बोइंग-737 विमान क्रैश, विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत

तेहरान। ईरान में तेहरान स्थित इमाम खोमेनी एयरपोर्ट पर बुधवार सुबह बोइंग-737 विमान उड़ान भरने के 3 मिनट बाद ही क्रैश हो गया। ईरान के आपातकालीन सेवाओं के एक अफसर ने सरकारी मीडिया से दावा किया कि विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई। इसमें 167 यात्री और 9 क्रू मेंबर्स थे। ईरान की फार्स न्यूज एजेंसी के मुताबिक, यूक्रेन एयरलाइंस का विमान तेहरान से यूक्रेन के कीव जा रहा था। हादसे की वजह तकनीकी खराबी बताई जा रही है। उड्डयन विभाग की एक टीम घटनास्थल पर जांच के लिए मौजूद है। अभी तक सरकार और एयरलाइन के किसी अफसर ने इस घटना पर टिप्पणी नहीं की है। 

‘फ्लाइट रडार 24’ वेबसाइट ने एयरपोर्ट के डेटा के आधार पर बताया कि यूक्रेन के बोइंग 737-800 विमान को स्थानीय समयानुसार सुबह 5:15 पर उड़ान भरनी थी। हालांकि, इसे 6:12 पर रवाना किया गया। उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद ही फ्लाइट ने डेटा भेजना बंद कर दिया। एयरलाइन ने इस मामले में अब तक बयान जारी नहीं किया है।  ईरान की इस्ना न्यूज एजेंसी की तरफ से पोस्ट किए गए वीडियो में विमान के अंधेरे में क्रैश होने के बाद धमाका होते देखा जा सकता है। इस्ना ने घटनास्थल की फोटोज भी जारी कीं। इनमें विमान के मलबे को जमीन पर बिखरा देखा जा सकता है।

यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा कि हादसे के वक्त विमान में ईरान के 82, कनाडा के 63, स्वीडन के 10, ब्रिटेन के 3, अफगानिस्तान के 4 और जर्मनी के 3 नागरिक थे। यूक्रेन के प्रधानमंत्री ओलेक्सी हॉन्चरुक ने बुधवार को कहा कि हम सर्च ऑपरेशन और घटना की जांच के लिए विशेषज्ञों की टीम ईरान भेजेंगे। जांच टीम घटना के कारणों का पता लगाएगी।

बोइंग 737-800 दो इंजन वाला जेट है। दुनियाभर की सैकड़ों एयरलाइंस इस माॅडल के विमान इस्तेमाल करती हैं। 1990 में आया यह विमान बोइंग 737 मैक्स विमान का पुराना वर्जन है। बोइंग 737-800 भी इससे पहले कई दुर्घटनाओं का शिकार हो चुका है। मई 2010 में एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान मैंगलोर में लैंडिंग के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें 150 लोगों की मौत हुई थी। बोइंग 737-800 क्रैश का सबसे ताजा मामला मार्च 2016 का है। फ्लाईदुबई एयरलाइन का विमान रूस के रोस्तोव-ऑन-डॉन एयरपोर्ट पर लैंड करने की कोशिश में क्रैश हुआ था। इसमें भी 62 लोेग मारे गए थे। 

 

पिछले साल मार्च में बोइंग-737 मॉडल का ही एक विमान टेकऑफ के 6 मिनट बाद क्रैश हो गया था। इसमें 157 यात्रियों की मौत हुई थी। वहीं, 2018 में भी इंडोनेशिया के जकार्ता में लॉयन एयरलाइंस का बोइंग-737 उड़ान भरने के बाद ही क्रैश हुआ था। इसमें 112 की मौत हुई थी। 

 

 

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    जेएनयू में हिंसा के शिकार हुए छात्रों से मिलने कैंपस पहुंची अभिनेत्री दीपिका पादुकोण

    Previous article

    लखनऊ में अधिवक्ता की सरेआम पीट-पीट कर हत्या, साथियों ने शव रखकर पुलिस प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured