काला नमक चावल महोत्सव की सिद्धार्थनगर में शुरुआत, तीन दिवसीय कार्यक्रम से बड़ी उम्मीदें

सिद्धार्थनगर: काला नमक चावल महोत्सव का आयोजन प्रदेश की आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने वाला साबित होगा। यह महोत्सव शनिवार 13 मार्च से शुरू हो रहा है। जिसे सिद्धार्थनगर में आयोजित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री करेंगे वर्चुअल उद्घाटन

इस महोत्सव की शुरुआत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा होगी, जिसका सुबह 11:45 पर वर्चुअल तरीके से शुभारंभ किया जाएगा। इस कार्यक्रम में प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह और बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद्र द्विवेदी भी उपस्थित रहेंगे।

यह महोत्सव सिद्धार्थनगर जिले के राजकीय इंटर कॉलेज नौगढ़ परिसर में आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश की आत्मनिर्भरता को विशेष बढ़ावा दिए जाने की तैयारी है। इसीलिए इन सभी उत्पादों का यहां पर भारी मात्रा में प्रमोशन किया जाएगा।

3 दिनों तक चलेगा काला नमक चावल महोत्सव

यह कार्यक्रम सिद्धार्थनगर में 13 मार्च से 15 मार्च तक आयोजित किया जाएगा। जिसमें अलग-अलग व्यंजनों के स्टाल भी लगेंगे, अच्छे व्यंजन प्रस्तुत करने वाले लोगों को सम्मानित भी करने की योजना है। विशेषज्ञों की मदद से वहां आए हुए सभी लोगों को आध्यात्मिक और वैज्ञानिक खूबियां बताई जाएंगी।

फरा

काला नमक और चावल से तरह-तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं। इन्हीं सबका कलात्मक प्रदर्शन इस महोत्सव में किया जाएगा। कुछ विविध व्यंजन जैसे खीर, पुलाव, जीरा राइस, चावल, दाल, चावल छोला, खिचड़ी, फरा इडली, सब्जी इत्यादि की प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

बुद्ध के महाप्रसाद में भी इसका महत्व

काला नमक चावल बुद्ध के महाप्रसाद के तौर पर भी चर्चित है। सिद्धार्थ नगर और आसपास के क्षेत्रों में काला नमक की अच्छी उपलब्धता है। राज्य सरकार और केंद्र सरकार के द्वारा शुरू किया गया ‘वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’ में सिद्धार्थ नगर सहित अन्य जिले भी शामिल किए गए हैं।

काला नमक चावल महोत्सव की सिद्धार्थनगर में शुरुआत, तीन दिवसीय कार्यक्रम से बड़ी उम्मीदें

इस तरह की कई आयोजन के माध्यम से प्रदेश की सांस्कृतिक और पुरानी विरासत को मजबूती देने की कोशिश की जा रही है। इसके पहले झांसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव और गुड़ महोत्सव का लखनऊ में आयोजन किया गया था।

आने वाले दिनों में ड्रैगन फ्रूट महोत्सव को भी धूमधाम से आयोजित करने की तैयारी है। अपर मुख्य सचिव डॉ नवनीत सहगल ने बताया कि इस तरह के आयोजन छोटे उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए काफी जरूरी हैं। इन महोत्सव में उत्पादों को ब्रांड के तौर पर उभरने में बड़ी सहायता मिलती है। इससे व्यापार और प्रोडक्ट की गुणवत्ता में बड़ा सुधार आएगा।

लखनऊ के दो दिवसीय दौरे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कार्यसमिति की बैठक का करेंगे उद्घाटन

Previous article

जल मोबाइल एप के माध्यम से पता चलेगी खराब हैंडपंप की लोकेशन, प्रयागराज में हुआ लांच

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.