September 26, 2022 2:00 pm
Breaking News यूपी

जनता का जीवन संकट में डालने वाली बीजेपी की विदाई तय: अखिलेश

akhilesh yadav जनता का जीवन संकट में डालने वाली बीजेपी की विदाई तय: अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक बार फिर बीजेपी पर करारा वार किया है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी की सरकार ने लोगों का जीवन संकट में डाल दिया है। ऐसे में जनता ने विदाई का पूरा मन लिया है। बीजेपी की विदाई 2022 में तय है।

अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में स्वास्थ्य सुविधाएं दम तोड़ चुकी हैं। जनता इलाज के लिए दर-दर भटक रही है। बरसात के बीच जलभराव की स्थिति से संचारी रोग बेहद तेजी से फैल रहा है। पानी से पनपने वाली बीमारियों का संक्रमण तेज हो रहा है। लेकिन, सरकार की ओर से संक्रमण को रोकने की दिशा में किसी भी प्रकार का प्रयास नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि समय से ना तो दवाओं का छिड़काव करवाया जा रहा है और ना ही इलाज की समुचित व्यवस्था की जा रही है।

नींद में है योगी सरकार

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि डेंगू और वायरल के कारण फिरोजाबाद में एक के बाद एक 56 मौतें हो गईं हैं। लेकिन, प्रशासन की नींद नहीं टूटी है। राजधानी लखनऊ और इसके आसपास के जिलों में भी टायफाइड लगातार फैल रहा है। सौ से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। जिला अस्पतालों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर बुनियादी सुविधाएं तक नहीं हैं। आखिरकार इन बीमारियों पर अंकुश कैसे लगेगा।

यूपी भयभीत, भाजपा प्रचार में लीन

पूर्व मुख्यमंत्री ने योगी सरकार खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि प्रदेश भर के शहरों, बस्तियों और गांवों में जानलेवा वायरल बुखार तेजी से फैल रहा है। बच्चे और बड़े इसकी चपेट में भी आ रहे हैं। सरकार की जिम्मेदारी है कि लोगों को अच्छा चिकित्सा व्यवस्था मुहैया कराई जाए। वायरल बुखार के खतरनाक रूप को देखकर यूपी की जनता भयभीत हो चुकी है। लेकिन, सरकार अपना प्रचार ही करने में लीन है। उसको लोगों की समस्याओं से कोई लेना देना नहीं है।

जनता का भरोसा टूटा

पूर्व सीएम अखिलेश ने कहा कि कोरोना महामारी के बीच योगी सरकार की अव्यवस्थाओं की वजह से लोगों का भरोसा उठ गया है। जिस तरह से बेड, ऑक्सीजन की कमी हुई वो सबने देखा। इनका समाधान निकालने में भाजपा सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है। टीकाकरण के नाम पर हो हल्ला मचाया जा रहा है। भाजपा सरकार वैक्सीन तक नहीं दे पा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना के बाद ब्लैक फंगस की सही इलाज अस्पतालों में नहीं हो पाया। दवाओं और इजेक्शन की किल्लतों ने लोगों को दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर कर दिया। पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है। भाजपा अपनी सत्ता बचाने में जुटी हुई है।

उन्होंने अपनी सरकार के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर किए गए कार्यों को भी याद दिलाया। उन्होंने कहा कि लखनऊ में कैंसर अस्पताल, मातृ-शिशु रेफरल अस्पताल, प्रदेश में दर्जनों मेडिकल कॉलेजों की स्थापना की गई, 102-108 एंबुलेंस सेवाओं से लोगों का इलाज बेहतर किया गया। असाध्य रोगों, कैंसर, लीवर, किडनी, हॉर्ट आदि के इलाज की निशुल्क सुविधा शुरू की गई। स्वास्थ्य सुविधाओं का ढांचा सपा सरकार में जितना मजबूत हुआ है, बीजेपी की सरकार ने आने के बाद उसको उतना ही रसातल में पहुंचा दिया है।

Related posts

आयकर विभाग की छापेमारी में आरबीआई का अफसर गिरफ्तार

Rahul srivastava

हाथरस हत्याकांड: मुख्य आरोपी गौरव अब भी फरार, पीड़ित परिवार से मिला सपा का डेलिगेशन

Shailendra Singh

संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर पर प्रस्ताव को लेकर पाकिस्तान को एक और झटका

Trinath Mishra