September 28, 2021 1:04 am
featured यूपी

लखनऊः अखिलेश के बयान पर भाजपा का जवाब- ट्वीट करने से नहीं मिलेगी सत्ता

लखनऊः अखिलेश के बयान पर भाजपा का जवाब- ट्वीट करने से नहीं मिलेगी सत्ता

लखनऊः समाजवादी पार्टी प्रमुख एंव उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीते गुरुवार का भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसा था। अखिलेश ने किसान सम्मेलन को लेकर भाजपा को बातों की खेती करने वाला दल बताया था। जिसके बाद भाजपा ने भी पलटवार करते हुए अखिलेश यादव पर निशाना साधा।

भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कामेश्वर सिंह ने अखिलेश यादव के आरोपों का जवाब देते हए कहा कि अखिलेश झूठ बोलना और ट्वीट करना बंद कर दें। 2022 के चुनाव में जनता उन्हें जवाब देगी। कामेश्वर सिंह ने सवाल किया कि आखिर वे पिछले चार साल तक कहां गायब थे।

ट्वीट से नहीं जीतेंगे चुनाव- कामेश्वर

कामेश्वर सिंह ने कहा कि वे ट्वीट के जरिए चुनाव नहीं जीत सकते हैं। वो ये न सोचें कि ट्वीट करके चुनाव जीत जाएंगे। भाजपा कार्यकर्ता हमेशा जनता के बीच रहता है। उन्होंने कहबा कि वे जनता के बीच चलें, वहीं फैसला हो जायेगा। उन्होंने कहा कि अखिलेश के ट्वीट का कोई मतलब नहीं है।

कामेश्वर ने सपा कार्यकाल पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि अखिलेश 2012 से लेकर 2017 तक सीएम रहें। सत्ता के दौरान उन्होंने किसानों के लिए कुछ नहीं किया। मोदी जी जबसे प्रधानमंत्री बनें और प्रदेश की कमान योगी ने संभाली, तब से किसानों से जुड़ी तमाम योजनाएं सामने आईं। उन्होंने किसानों का उत्थान किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संकल्प है कि आजादी की 75वीं वर्षगांट पर किसानों की आय दोगुनी होनी चाहिए। भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार किसानों को लेकर दर्जनों योजानाएं लाई है।

लाखों किसानों का कर्जा माफ

उन्होंने आगे कहा कि सीएम योगी ने 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ ऋण माफ किया था। साल 2007 में मायावती और 2012 में अखिलेश की सरकार थी। इस 10 साल के कार्यकाल में गन्‍ना किसानों के मूल्‍य भुगतान जितना उन्‍होंने नहीं किया उससे ज्यादा बीजेपी सरकार ने किया। अखिलेश जो साइकिल चला रहे हैं। वो चार साल कहां थे, उनका कहीं पता नहीं था। वो सोचते हैं कि उनके ट्वीट करने से सरकार बन जाएगी, तो ऐसा नहीं है। बीजेपी कार्यकर्ता लगातार जनता के संपर्क में उनके बीच में रहते हैं।

Related posts

गुजरात के केमिकल फैक्ट्री में लगी आग, दो गांवों को कराया गया खाली

Rahul srivastava

राम मंदिर: भागवत का बयान अदालत की तौहीन है, उसे कुबूला नहीं जा सकता

Rani Naqvi

तृणमूल सांसद ने सीबीआई के समक्ष हाजिरी के लिए मांगा समय

Rahul srivastava