featured देश

एनआरसी मुद्दे को लेकर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना

एनआरसी मुद्दे को लेकर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना

नई दिल्ली: एनआरसी के मुद्दे पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोला है। हमला बोलते हुए उन्होने कहा कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होना चाहिए। इससे पहले कल राज्यसभा में स्वामी ने कहा था कि अगर हमारी सरकार पश्चिम बंगाल में आई तो हम वहां भी एनआरसी लागू करेंगे। एनआरसी का मुखर होकर विरोध कर रही ममता ने कहा है कि अगर आगे भी इस तरह की कोशिश जारी रही तो देश में गृहयुद्ध छिड़ सकता है। खूनखराबा भी मच सकता है।

 

mamta banerjee with subramanian एनआरसी मुद्दे को लेकर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना

 

ममता बनर्जी के खिलाफ एनआरसी के मुद्दे पर असम के नाहरकटिया पुलिस थाने में FIR दर्ज कराई गई

 

स्वामी ने कल कहा था, ‘’अगर कोई चटाई लेकर भारत के अंदर आ जाए तो क्या वह भारत का नागरिक हो जाएगा? भारत कोई धर्मशाला नहीं है जहां पर कोई भी किसी भी देश से आकर बस जाए। अभी तो असम में एनआरसी लागू हुआ है। अगर हमारी सरकार पश्चिम बंगाल में आएगी तो हम वहां पर भी एनआरसी लागू करेंगे।’’

 

एक बार फिर आया बीजेपी नेता का विवादित बयान,कहा-बांग्लादेशी भारत से नहीं जाते हैं तो गोली मार दो

 

वहीं ममता के खूनखराबा वाले बयान पर गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने भी उनपर निशाना साधा है। किरन रिजिजू ने कहा है कि राज्य में कानून व्यवस्था को बनाए रखने और हिंसा को उत्तेजित करने के लिए मुख्यमंत्री का कर्तव्य है। गृह युद्ध पर उनकी टिप्पणी निंदाजनक है।’’

असम NRC मामला: ममता ने किया केन्द्र सरकार पर हमला कहा, सरनेम देखकर हटाए गए लोगों के नाम

 

संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि अवैध घुसपैठिए हमें मंजूर नहीं हैं। उनको बाहर जाना ही पड़ेगा। अनंत कुमार का कहना है कि असम एकॉर्ड साल 1985 में राजीव गांधी ने किया था. लालकिले से उन्होंने ऐलान किया था कि हमने ऐतिहासिक समझौता किया है और कहा कि हम घुसपैठियों को बाहर कर देंगे। पूर्व पीएम इंदिरा गांधी ने भी कई बार कहा कि अवैध घुसपैठियों को बाहर निकालेंगे। लेकिन आज की कांग्रेस अवैध घुसपैठिए के पक्ष में है।

 

अनंत कुमार ने आगे कहा, ‘’जो बात वह कर रही हैं उसकी जिम्मेदारी उनकी होगी. कानून व्यवस्था की स्थिति खराब होगी. ममता क्या कहना चाहती हैं। वह एक प्रदेश की मुख्यमंत्री हैं। असम में अवैध घुसपैठ से डेमोक्रेटिक इमबैलेंस हो चुका है। पूरे देश की जनता जानती है इसके लिए कौन जिम्मेदार है।

By:Ritu Raj

 

Related posts

जीटी देवगौड़ा बोले: भाजपा को बाहरी समर्थन दे सकते हैं जद(एस) के विधायक

bharatkhabar

भारत में आतंकी हमले का अलर्ट, निशाने पर इजरायली नागरिक

Nitin Gupta

‘वर्ल्ड टॉयलेट डे’ पर नोएडा में हुआ 46 शौचालय का लोकर्पण, पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहीं ये बात

Trinath Mishra