September 22, 2021 10:32 pm
featured यूपी

भाजपा ने पूर्व विधायक जितेंद्र सिंह बबलू को दिखाया पार्टी से बाहर का रास्ता, जानिए वजह

भाजपा ने पूर्व विधायक जितेंद्र सिंह बबलू को दिखाया पार्टी से बाहर का रास्ता, जानिए वजह

लखनऊः बहुजन समाज पार्टी के पूर्व विधायक जितेंद्र सिंह बबलू को भारतीय जनता पार्टी ने जॉइनिंग के एक हफ्ते के भीतर ही बाहर का रास्ता दिखा दिया है। भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी की शिकायत के बाद पार्टी ने जितेंद्र सिंह बबलू की सदस्यता को निरस्त कर दिया है।

दरअसल, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने 4 अगस्त को जितेंद्र सिंह को पार्टी की सदस्यता दिलाई थी। बता दें कि साल 2009 में रीता बहुगुणा जोशी का आवास जलाने के मामले में जितेंद्र सिंह का नाम मुख्य आरोपी के तौर पर शामिल है। उस दौरान रीता बहुगुणा जोशी कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष हुआ करती थी। उस दौरान उनका आवास जलाया गया था।

रीता बहुगुणा ने जताई आपत्ति

वहीं, जब जितेंद्र जब पार्टी में शामिल हुए और रीता बहुगुणा जोशी को इस बारे में पता चला तो उन्होंने कहा कि जितेंद्र ने पार्टी से तथ्यों के बारे में छुपाया था। उन्होंने कहा कि वह इस बाबत प्रदेश अध्यक्ष एंव पार्टी अध्यक्ष को अवगत कराएंगी। जिसके बाद रीता बहुगुणा जोशी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को पत्र लिखकर पूरे मामले की विस्तृत जानकारी दी। साथ ही जितेंद्र के पार्टी में शामिल होने पर आपत्ति जताई।

दशाशंकर सिंह और स्वाति सिंह पर अभद्र टिप्पणी का आरोप

सूत्रों की माने तो भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह और मंत्री स्वाति सिंह ने भी जितेंद्र सिंह बबलू के पार्टी में शामिल होने पर पार्टी नेतृत्व से इस बारे में चर्चा की थी। जितेंद्र पर दयाशंकर सिंह और स्वाति सिंह के परिवार पर अभ्रद टिप्पणी करने का आरोप है। इन सभी शिकायतों को ध्यान में रखते हुए पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने जितेंद्र सिंह बबलू की सदस्यता को निरस्त कर दिया।

रीता बहुगुणा ने पार्टी का जताया आभार      

वहीं, जब इस मामले में सांसद रीता बहुगुणा जोशी से पूछा गया तो उन्होंने पार्टी का आभार जताते हुए कहा कि मुझे खुशी है कि असलियत सामने आते ही पार्टी ने जितेंद्र को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। रीता ने कहा कि पार्टी में ऐसे अपराधियों की कोई जगह नहीं है।

बता दें कि सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को जो पत्र लिखा था उसकी एक कॉपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को भी भेजी गई थी। वहीं, 4 अगस्त को जितेंद्र सिंह के भाजपा में शामिल होने के बाद से ये विषय चर्चा का विषय बना हुआ था।

Related posts

कपिल ने प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार को घेरा, बापू कि मुर्ति को पहनाया मास्क

Breaking News

दिल्ली-एनसीआर में मौसम ने ली करवट, लोगों की बढ़ी समस्या

Pradeep sharma

कैंसर के मरीजों में कोविड-19 से संक्रमित होने पर मौत का खतरा 28 फीसदी: रिपोर्ट

Rani Naqvi