शशि कपूर जब लगा था मरने से डर

नई दिल्ली। शशि कपूर बॉलीवुड की के दिग्गज अभिनेता के रुप में जाने हैं  बॉलीवुड एक्टर शशि कपूर का जन्म 18 मार्च 1938 को हुआ था।अपने भाइयों में वे सबसे छोटे थे इसलिए प्यार से बड़े भाई शम्मी कपूर, शशि को शाशा पुकारते थे। पिता और भाइयों को देखते हुए शशि ने भी अभिनेता बनने की ठानी। उनके पिता पृथ्वीराज कपूर ने शशि को खुद अपना सफर तय करने को कहा।  वो अपने अलग अभिनय और स्टाइल के दम लोगों के दिलों में आज भी राज कर रहे है। आज  हम उनके जन्मदिन के खास मौके पर आपको बताते हैं के कुछ अनसुने और दिलचस्प किस्से जो उनकी जिंदगी से सरोकार रखते हैं।

एक सीन में मरते-मरते बचे थे शशि कपूर

फिल्मों में कई सीन फिल्माए जाए जाते हैं जो अभिनेता और अभिनत्री के लिए घातक साबित होते हैं। ऐसे कई घटनाएं सामने आई हैं जिनमे ंअभिनेता मौत के मुंह तक जा चुके हैं ऐसा ही एक सीन शशि कपूर के साथ हुआ था जिसमें वो मरते मरते बचे  हैं।

 

क्या हुआ था-

शशि कपूर के साथ कुछ यूं था कि साल 1979 में मनमोहन देसाई की फिल्म सुहाग आई थी जिसकी क्लाइमैक्स सीन की शूटिंग की जा रही थी जिसमें एक एक्शन सीन शूट होना था।

इस शूट में अमजद खान हैलीकॉप्टर से भागने की कोशिश कर रहे हैं और शशि और अमिताभ को उन्हें इस सीन में रोकना था जिसमें शशि और अमिताभ दोनों को हैलीकॉप्टर पर लटकना था और इस सीन की शूटिंग  100 फीट की ऊंचाई पर हो रही थी और शूट के बीच शशि का हाथ फिसलने लगा जिससे शशि काफी डर गए और उन्हें लगने लगा कि वो अब बच नहीं पाएंगे लेकिन फिर तभी हैलीकॉप्टर थोड़ा नीचे आने लगा और शशि की थोड़ी हिम्मत बढ़ी और उन्होंने जैसे-तैसे टाइट हैलीकॉप्टर पकड़ा।

अमिताभ और शशि की दमदार जोड़ी

अमिताभ और शशि की दमदार जोड़ी ने बॉलिबुड़ में कोहराम मचा दिया था और आज हम भी लोग उनकी जोड़ी को याद रखते हैं।

जोड़ी ने ‘इमान धर्म’, ‘त्रिशूल’, ‘शान’, ‘कभी कभी’, ‘रोटी कपड़ा और मकान’, ‘सुहाग’, ‘सिलसिला’, ‘नमक हलाल’, ‘काला पत्थर’ और ‘अकेला’ में भी काम किया। ज्यादातर फिल्में दर्शकों द्वारा पसंद की गईं। आज तक दीवार फिल्म में शशि अमिताभ पर फिल्माए गए कई डॉयलॉग्स लोगों की जुबां पर चढ़े हुए हैं।