January 25, 2022 9:49 am
featured खेल देश भारत खबर विशेष शख्सियत

जन्मदिन विशेषः क्रिकेटर दिलीप सरदेसाई का दोहरा शतक क्रिकेट जगत हमेशा याद रखेगा

Dilip Sardesai जन्मदिन विशेषः क्रिकेटर दिलीप सरदेसाई का दोहरा शतक क्रिकेट जगत हमेशा याद रखेगा

भारतीय टीम के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर दिलीप सरदेसाई बुधवार को 78वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। गौरतलब है कि दिलीप सरदेसाई स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ अब तक के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रहे है।सरदेसाई गोवा से ताल्लुक रखने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के इकलौते स्टार खिलाड़ी हैं। अपको बताते हैं सरदेसाई जन्मदिवस पर उनके जीवन जुड़ी रोमांचक बातें।

 

जन्मदिन विशेषः क्रिकेटर दिलीप सरदेसाई का दोहरा शतक क्रिकेट जगत हमेशा याद रखेगा
जन्मदिन विशेषः क्रिकेटर दिलीप सरदेसाई का दोहरा शतक क्रिकेट जगत हमेशा याद रखेगा

दिलीप सरदेसाई का जन्म साल 1940 में गोवा के मारगांव में हुआ था

आपको बता दें कि दिलीप सरदेसाई का जन्म साल 1940 में गोवा के मारगांव में हुआ था।सरदेसाई के जन्म के समय गवा में पुर्तगालियों का शासन था। इसके बाद इनका परिवार बॉम्बे में रहने लगा था।उनके बेटे राजदीप सरदेसाई कहते हैं कि उनके पिता ने 17 साल की उम्र तक कभी मैदान पर नहीं उतरे थे।राजदीप सरदेसाई की मानें तो चार साल बाद ही उन्होंने क्रिकेट जगत में अपनी पहचान बना ली थी। वह गोवा से टीम इंडिया में चुने जाने वाले इकलौते खिलाड़ी हैं।

भारतीय स्पिनरों की शानदार गेजबाजी का फायदा नहीं उठा पाई श्रीलंकाई टीम, 215 रनों पर सिमटी

सरदेसाई ने पहला फर्स्ट क्लास मैच नवंबर 1960 में पाकिस्तान के खिलाफ पूना में खेला था

बॉम्बे यूनिवर्सिटी के लिए रोहिंग्टन बारिया ट्रॉफी (1959-60) में शानदार प्रदर्शन किया था। बाद में सरदेसाई ने पहला फर्स्ट क्लास मैच नवंबर 1960 में पाकिस्तान के खिलाफ पूना में खेला था। अपने पहले ही मैच में 87 रन की शानदार पारी खेलने वाले सरदेसाई ने बोर्ड प्रेजीडेंट इलेवन के लिए खेलते हुए पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला शतक भी जड़ा था।

सरदेसाई को स्पिन के खिलाफ एक बेहतरीन बल्लेबाज माना जाता था

आपको बता दें कि सरदेसाई को स्पिन के खिलाफ एक बेहतरीन बल्लेबाज माना जाता था। लेकिन साल 1962 में उन्होंने तेज गेंदबाजी के खिलाफ भी अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी का सबूत पहली बार दुनिया के सामने पेश किया था। मालूम हो कि वेस हॉल और चार्ली ग्रिफिथ जैसे कैरीबियाई गेंदबाजों जब क्रिकेट में काफी कोहराम मचा रहे थे। लेकिन उसी वक्त सरदेसाई के बल्ले से वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों की कमर तोड़कर रख दी थी।

‘गट्स एंड ग्लोरी’ में सरदेसाई और उनकी पत्नी नंदिनी पंत के बारे उनके बीच की कैमिस्ट्री पर काफी कुछ लिखा है

पूर्व क्रिकेट एडमिनिस्ट्रेटर मकरंद वेंगंकर की किताब ‘गट्स एंड ग्लोरी’ में दिलीप सरदेसाई और उनकी पत्नी नंदिनी पंत के बारे उनके बीच की कैमिस्ट्री पर काफी कुछ लिखा है।पहली बार जब सरदेसाई नंदनी से मिले  जब उन्हें वेस्टइंडीज टूर के लिए रवाना होना था। इस दौरान दोनों एक दूसरे काफी चिट्ठियां लिखा करते थे। दौरा खत्म होने तक सरदेसाई अपनी होने वाली पत्नी को करीब 90 खत लिख चुके थे।

न्यूजीलैंड के खिलाफ दिलीप सरदेसाई की डबल सेंचुरी को कभी नहीं भुलाया जा सकता है

विदेश में देश का सम्मान बचाने वाली न्यूजीलैंड के खिलाफ दिलीप सरदेसाई की डबल सेंचुरी को कभी नहीं भुलाया जा सकता है। आपको बता दें कि दोनों टीमों के बीच साल 1965 में एक अहम टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला खेला गया था। जिसमें टीम इंडिया को 88 रन पर ढेर करने के बाद न्यूजीलैंड ने 297 रन की बढ़त बना ली थी। जिसका पीछा करते हुए दूसरी पारी में सरदेसाई ने ऐसी डबल सेंचुरी जमाई जिससे न्यूजीलैंड की टीम के छक्के छुट गए और टीम इंडिया को हार के संकट से बाहर खड़ा कर दिया।

महेश कुमार यदुवंशी

Related posts

मोबाइल फोन में ओटोमेटिक आधार हेल्पलाइन नंबर सेव होने के मामले पर गूगल ने मानी गलती

Rani Naqvi

मौसम के बिगड़े मिजाज से पहाड़ों में तबाही

Srishti vishwakarma

रांची में कल ‘पुलिस में महिलाओं’ पर 8वां राष्ट्रीय सम्मेलन मनाया जाएगा

mahesh yadav