bihar board result बिहार: इंटर बोर्ड की परीक्षा में कैलाश कुमार ने किया टॉप, पिता पेट्रोल पंप पर मामूली कर्मी

सुपौल: कहते हैं जहां चाह वहां राह कुछ ऐसा ही कारनामा कर दिखाया बिहार के कैलाश कुमार ने कैलाश बिहार बोर्ड मे आर्ट्स संकाय से 463 नबंर लाकर टॉप किया है। पिता पेट्रोल पंप पर एक मामूली कर्मी के तौर पर कार्यरत हैं। कैलाश सुपौल जिले के सिमरिया पंचायत के बेलही गांव के वार्ड नंबर पांच के रहने वाले है।

खगड़िया की मधु भारती के साथ संयुक्त रूप से किया टॉप 

बिहार बोर्ड इंटर की परीक्षा में सिमुलतला विद्यालय में पढने वाले कैलाश कुमार ने इंटर की परीक्षा में आर्टस संकाय से 463 नंबर लेकर खगड़िया की मधु भारती के साथ संयुक्त रूप से टॉप किया है।

बिहार बोर्ड में 1045950 ने पास की परीक्षा

बिहार बोर्ड इंटर की परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। इस बार कुल 10 लाख 45 हजार 950 छात्रों ने परीक्षा पास की है, जो कुल बच्चों का 78.04 प्रतिशत है. वहीं, संकाय के अनुसार देखा जाए तो कला संकाय में 77.91 प्रतिशत, वाणिज्य संकाय में 77.97 प्रतिशत और विज्ञान संकाय में 76.28 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं।

विज्ञान संकाय से सोनाली ने किया टॉप 

टॉपर की बात करें तो कला संकाय में खगडिया जिला की मधु भारती और जमुई के कैलाश ने 463 अंक लाकर टॉप किया है। वाणिज्य संकाय से 471 अंक के साथ औरंगाबाद की सुगंधा ने टॉप किया है. वहीं, विज्ञान संकाय से बिहारशरीफ की सोनाली ने 471 अंक लाकर टॉप किया है।

कैलाश के पिता पेट्रोल पंप पर मामूली कर्मी

सुपौल जिले के सिमरिया पंचायत के बेलही गांव वार्ड नंबर पांच के रहने वाले कैलाश के पिता उपेंद्र मंडल उर्फ गुड्डू जिले के लक्षममिनियां पेट्रोल पंप पर एक मामूली कर्मी के तौर पर कार्यरत हैं। उन्होने बताया कि कैलाश की शुरूवाती पढाई जिले के सत्यदेव उच्च विद्यालय से हुई, जिसके बाद 2017 में उसका नामांकन सिमुलतला विद्यालय में कराया गया था।

सफलता का श्रेय गुरूओं और माता पिता को 

कैलाश अपनी सफलता के श्रेय अपने माता पिता के साथ-साथ सिमुलतला विद्यालय के अनुभवी शिक्षकों और प्रधानचार्य को दिया। उन्होंने कहा उनका सपना आईएस ऑफिसर बनने का है और जैसे इस परीक्षा में टॉप किया वैसे ही यूपीएसी की परीक्षा में भी टॉप करना चाहते है.

पिता का सपना आईएएस बने बेटा

कैलाश के पिता ने बताया कि मेरा सपना है कि मैं अपने बेटे को आईएएस बने। ऐसे में उसने बकायदे यूपीएससी की तैयारी शुरू भी कर दी है। कैलाश का कहना है कि वो अपनी सफलता का श्रेय अपने माता- पिता और गुरूओं को देता है।

अल्मोड़ा: 49-सल्ट विधानसभा के लिए उपचुनाव, भारत निर्वाचन आयोग ने एग्जिट पोल के प्रचार पर लगाई रोक

Previous article

कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम में लगा जिला प्रशासन, युद्ध स्तर पर तैयारी

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured