बिहार बोर्ड की मेट्रिक परीक्षा आज से,जूते मोजे पहन कर परीक्षा देने पर प्रतिबंध

बिहार बोर्ड की मेट्रिक परीक्षा आज से,जूते मोजे पहन कर परीक्षा देने पर प्रतिबंध

गुरुवार से बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा शुरू होने जा रही है. आपको बता दे परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा समय से 10 मिनट पहले पहुंचने के निर्देश जारी किए गए हैं. इसके साथ ही परीक्षार्थियों को निर्देश दिए गए है कि किसी भी तरह की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ले जाने की पूरी तरह पाबंदी है. साथ ही जूते-मोजे पहनकर आने वाले परीक्षार्थियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

परीक्षा को लेकर बिहार बोर्ड समिति ने कई नियम बनाएं हैं और परीक्षार्थियों के लिए गाइड लाइन भी जारी की है. जिन्हें परीक्षार्थियों के लिए जानना जरूरी है.

आइये गाइडलाइन्स को पॉइंट्स के माध्यम से समझते है:

परीक्षा केंद्र में जूता-मोजा पहनकर प्रवेश करने की इजाजत नहीं दी गई है.

परीक्षार्थियों को एडमिट कार्ड की मूल प्रति और पेन के सिवा कुछ भी नहीं ले जाना है.

परीक्षार्थियों को परीक्षा आरंभ होने से कम से कम 10 मिनट पहले केंद्र में प्रवेश करना अनिवार्य होगा.

इंटरमीडिएट परीक्षा की तरह ही इस बार मैट्रिक की उत्तर पुस्तिका और ओएमआर शीट पर परीक्षार्थियों का नाम, रौल नंबर, रौल कोड और विषय कोड प्रिंटेड मिलेगा.

आनसर शीट और ओएमआर पर व्हाइटनर, इरेजर, नाखून, ब्लेड का इस्तेमाल नहीं करें.

किसी प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लेकर परीक्षा केंद्र में प्रवेश पर बैन है.

वीडियो कैमरे के सामने जांच में कैलकुलेटर, मोबाइल फोन एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स जैसे-ब्लूटूथ, इयरफोन मिलने पर परीक्षा से वंचित हो सकते हैं.

केंद्राधीक्षक के अलावा किसी भी पदाधिकारी, कर्मचारी और वीक्षक को मोबाइल के साथ प्रवेश वर्जित रहेगा.

आपको बता दें कि इस बार मैट्रिक परीक्षा में इस बार लड़कों की तुलना में 13541 लड़कियां अधिक शामिल हो रही हैं. जबकि पूरे प्रदेश में 16 लाख 60 हजार 609 परीक्षार्थी शामिल होंगे. इनमें छात्राओं की संख्या 8 लाख 37 हजार 75 है. जबकि, छात्रों की संख्या 8 लाख 23 हजार 534 है.

राज्य भर में 1,418 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं मैट्रिक परीक्षा के लिए 8 लाख 42 हजार 888 परीक्षार्थी फर्स्ट सिटिंग में और 8 लाख 17 हजार 721 अभ्यर्थी सेकेंड सिटिंग में शामिल होंगे.