बिहार विश्वविधालय के शिक्षकों के वेतन लिए 573 करोड़ की स्वीकृती

बिहार विश्वविधालय के शिक्षकों के वेतन लिए 573 करोड़ की स्वीकृती

बिहार सरकार ने विश्वविधालय के शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मचारियों के वेतन एवं पेंशन भुगतान के लिए 573 करोड़ की राशि को स्वीकृति की है। राज्य सरकार ने बिहार के कुछ नव सृजित विश्वविधालयों को छोड़कर, बिहार के सभी विश्वविधालयों के शिक्षक – शिक्षकेतर कर्मचारियों के लिए 573 करोड़ रूपए की धनराशि को स्वीकृति दी है। सरकार ने शिक्षकों और शिक्षकेतर कर्मचारियों के मार्च से मई तक के वेतन और पेंशन के भुगतान के लिए 573 करोड़ की राशि को स्वीकृति दी है।

 

 

नव निर्मित विश्वविधालयो में पाटिलपुत्र विश्वविधालय ,मुंगेर विशविधालय और पूर्णिया विश्वविधालय के नाम शामिल हैं। राज्य की नीतीश सरकार ने पाटिलपुत्र वि.विधालय ,मुंगेर वि.विधालय ,पूर्णिया वि.विधालय के शिक्षकों को 573 करोड़ की राशि “जो बिहार वि.विधालयों के लिए जारी की गई है’’ से नदारद रखा है। शिक्षा विभाग ने इस संबंध मे आदेश जारी किया है। जिन प्रमुख वि.विधालयों के लिए राशि के आंकड़े ये हैं-

 

पटना विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि- 39.26 करोड़

मगध विश्वविदालय के लिए स्वीकृत राशि –94.20 करोड़

बिहार विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि-1.11 अरब

बीर कुंवर सिंह विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि- 54.53 करोड़

जेपी विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि- 37.81करोड़

बीएन मंडल विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि-51.82 करोड़

तिलकामांझी विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि-69.71 करोड़

एनएल मिथला विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि-94.25 करोड़

केएसडीएस विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि-19.30 करोड़

अरबा-फारसी विश्वविधालय के लिए स्वीकृत राशि 54.81लाख

 

बता दें कि राज्य सरकार ने आज विश्वविधालयों के शिक्षकों और शइक्षकेतर कर्मचारियों के वेतन और पेंशन लिए के लिए 573 करोड़ रुपए की धन राशि को स्वीकृति दी है। जिससे एक तरफ तमाम विशवविधालय के शिक्षकों और कर्मचारियों में खुशी है। तो दूसरी ओर पाटिलपुत्र वि.विधालय ,मुंगेर वि.विधालय ,पूर्णिया वि.विधालय के शिक्षकों और कर्मचारियों के लिए परेशानी का विषय बन रही है 573 करोड़ की राशि का सरकार का तोहफा क्यों कि सरकार ने इन वि.विधालयों को इस लाभ से अलग रखा है।