अगर ऐसे करेंगे कोरोना टेस्‍ट तो कैसे कम होगा संक्रमण?

वाराणसी: उत्‍तर प्रदेश के वाराणसी जिले में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए वैक्‍सीनेशन का काम जारी है। शुक्रवार को जिले के 13 केंद्रों पर 2,477 लोगों का टीकाकरण किया गया।

वहीं, जिले में कोविड टेस्‍ट के दौरान एक बड़ी लापरवाही का मामला भी सामने आया। शहर के काशी विद्यापीठ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कोरोना टेस्‍ट कराने के लिए सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान स्वास्थ्य केंद्र पर डॉक्‍टर और स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों की बड़ी लापरवाही देखने को मिली।

बिना पीपीई किट पहने कोरोना टेस्‍ट

दरअसल, स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र पर कोविड टेस्‍ट कराने पहुंचे लोगों का डॉक्‍टर व स्‍वास्‍थ्‍यिकर्मी बिना पीपीई किट पहने ही कोरोना जांच करते दिखाई दिए। यही नहीं, इस दौरान किसी ने भी फिजिकल डिस्‍टेंसिंग नियम का पालन भी नहीं किया।

varanasi 1 1 अगर ऐसे करेंगे कोरोना टेस्‍ट तो कैसे कम होगा संक्रमण?

 

तस्‍वीरों में आप देख सकते हैं कि किस तरह कोरोना टेस्‍ट कराने आए लोग एक-दूसरे के बिल्‍कुल पास खड़े हुए हैं। वहीं, जब डॉक्‍टर से पीपीई किट की उपलब्‍धता के बारे में पूछा गया तो उन्‍होंने जवाब दिया कि, समय से पहले भीड़ आने के कारण वह पीपीई किट नहीं पहन सके।

varanasi 3 अगर ऐसे करेंगे कोरोना टेस्‍ट तो कैसे कम होगा संक्रमण?

वाराणसी में प्रतिदिन कोरोना के सक्रिय मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र पर बिना पीपीई किट पहने कोरोना टेस्‍ट करना व सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना एक बड़ी लापरवाही है। इससे कोरोना संक्रमण बढ़ने की आशंका बढ़ सकती है।

varanasi 2 अगर ऐसे करेंगे कोरोना टेस्‍ट तो कैसे कम होगा संक्रमण?

आज इन केंद्रों पर लगेगा टीका

वहीं, शनिवार को वाराणसी के जिला महिला अस्‍पताल करीबचौरा, ईएसआइ अस्‍पताल पांडेयपुर, सर सुंदरलाल अस्‍पताल बीएचयू, एसवीएम अस्‍पताल भेलूपुर, सेंट्रल असप्‍ताल बरेका, डिवीजनल अस्‍पताल एनईआर समेत सभी ब्लॉक स्तरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कोरोना वैक्‍सीन लगाई जाएगी।

‘गुरू’ और ‘चेले’ के बीच आज कांटे का मुकाबला, जानें क्या हैं आंकड़े

Previous article

कोरोना से बिगड़ते हालातों पर सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बोला हमला

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured