भूपेश बघेल भूपेश बघेल सरकार ने दिया अपने कार्यकाल के दूसरे बजट को अंतिम रूप, बजट को लेकर मंत्रियों से चर्चा

रायपुर। भूपेश बघेल सरकार ने अपने कार्यकाल के दूसरे बजट को लगभग अंतिम रूप दे दिया है। सीएम की बजट को लेकर मंत्रियों से चर्चा हो गई है और योजनाओं के लिए फंड के प्रावधान की प्रक्रिया चल रही है। भास्कर की पड़ताल के मुताबिक आने वाले बजट में किसानों के लिए धान बोनस का प्रावधान नहीं रहेगा। इसके बदले में दूसरी योजनाएं लाई जाएंगी। इस बजट की सबसे खास बात 25 नई तहसीलों की स्थापना हो सकती है। संकेत मिले हैं कि सरकार ने इसके लिए सारी प्रक्रिया पूरी कर ली है और बजट का प्रावधान भी किया जा रहा है। इसके अलावा, आने वाले बजट में बिलासपुर और अंबिकापुर में दो नए रीजनल एयरपोर्ट के लिए फंड दिया जा सकता है। राजधानी की सिंचाई कालोनी को गिराकर नया हाउसिंग प्रोजेक्ट बजट में लांच होगा, जिसके लिए बड़ी राशि बजट में रखी जाएगी।

  रीजनल एयरपोर्ट शुरू करने के लिए सरकार ने बिलासपुर और अंबिकापुर शहरों को फाइनल कर लिया है। अंबिकापुर एयरपोर्ट पर 45 करोड़ और बिलासपुर पर 30 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। इसका प्रावधान आने वाले बजट में किया जाएगा। इसके अलावा राज्य सरकार ने गर्मियों में पानी की किल्लत न हो इसके लिए क्रेडा के नए प्लान के लिए भी बजट प्रावधान करने जा रही है। क्रेडा ने तालाबों और नालों में पानी को रोके रखने के लिए नया प्लान तैयार किया है। 

पर्यटन एवं संस्कृति विभाग की तरफ से पर्यटन सर्किट का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इसके तहत कोरिया जिले से जगदलपुर तक के राम वन गमन पथ के 8 स्थलों पर वैदिक विलेज, पगोडा, इंटरप्रिटेशन सेंटर, रेस्टोरेंट, वाटर फ्रंट और पहुंच मार्ग के निर्माण के लिए भी ज्यादा से ज्यादा बजट की मांगा गया था। सूत्रों के अनुसार इसके लिए आने वाले बजट में अच्छी खासी राशि रखी जाएगी।

राज्य में हाथियों से हर साल जान माल को क्षति पहुंचती है। इसे देखते हुए राज्य सरकार लेमरू एलिफैंट प्रोजेक्ट पर इस साल भारी भरकम राशि खर्च करेगी। वन विभाग ने इसके लिए 90 करोड़ रुपए का प्रस्ताव दिया है। कैम्पा के फंड से इस प्रोजेक्ट को पूरा किया जाएगा। वनौषधि बोर्ड को बंद करके उसकी जगह पारंपरिक औषधि पादप बोर्ड शुरू करने की योजना है। यही नहीं, आवास एवं पर्यावरण विभाग राजधानी की मौजूदा सिंचाई कालोनी में करीब 16 एकड़ का हाउसिंग प्रोजेक्ट लाने जा रहा है, जिसके लिए बजट में बड़ा फंड मिल सकता है। 

नरवा, गरूवा, घुरवा और बारी के विकास के साथ ही सुराजी योजना के लिए भी बजट में राशि का प्रावधान किया जा रहा है। पीएचई विभाग ने जहां मिनीमाता अमृत धारा योजना के तहत गरीब परिवारों को नि:शुल्क नल कनेक्शन देने के लिए भारी भरकम बजट मांगा है। संकेत मिले हैं कि सरकार इसे स्वीकार करते हुए आने वाले बजट में बड़े फंड का प्रावधान कर सकती है।

वहीं सरकार मुख्यमंत्री खिलाड़ी प्रोत्साहन योजना शुरू करने जा रही है। साथ ही राज्य में विभिन्न खेलों के लिए 12 एकेडमी भी शुरू की जाएगी। उच्च शिक्षा विभाग की तरफ से उच्च शिक्षा से लेकर अन्य विभागों में भर्तियों और कौशल विकास से संबंधित रोजगार देने के लिए प्रस्ताव दिया गया है। बजट में भूपेश सरकार प्रदेश में 2 नए विवि के लिए फंड देने जा रही है। इनमें से एक बागवानी विवि और दूसरा खेल विवि होगा। हालांकि आने वाले वित्तीय वर्ष में सरकार 3 से 4 नए कालेज ही खोलने जा रही है, लेकिन 36 कालेजों में नए भवन के लिए बजट में बड़ी राशि रखी जाएगी। सब मिलाकर यह राशि 170 करोड़ रुपए तक हो सकती है।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    दिल्ली की सभी 70 सीटों पर मतदान जारी, दिल्ली में शाम 6 बजे तक 13,750 केंद्रों पर होगी वोटिंग, 4 बजे तक 45% मतदान

    Previous article

    डीएम  निधि निवेदिता के छप्पड़ कांड पर बोले कमलनाथ के मंत्री, कलेक्टर को गोली मारने का हक थप्पड़ मारने का नहीं

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured