November 26, 2022 3:16 pm
featured देश मध्यप्रदेश राज्य

मप्र: वोटरों को लालच देने वाले नेता हो जाएं सावधान, EC ने लांच किया एप

चुनाव आयोग ने एप किया लांच मप्र: वोटरों को लालच देने वाले नेता हो जाएं सावधान, EC ने लांच किया एप

भोपाल : चुनाव के दौरान मतदाता को किसी तरह का लालच देने वाले अब बच नहीं पाएंगे। आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों की मॉनिटरिंग अभी तक चुनाव आयोग और जिला प्रशासन ही करते थे, लेकिन अब हर व्यक्ति इस पर नजर रख सकेगा। इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग ने ‘सी-विजिल’ नाम से एक एप लॉन्च किया है।

चुनाव आयोग ने एप किया लांच मप्र: वोटरों को लालच देने वाले नेता हो जाएं सावधान, EC ने लांच किया एप

शिकायत करने वाले का नाम रखा जाएगा गुप्त

इस एप के जरिए कोई भी व्यक्ति आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों पर 100 मिनट में कार्रवाई सुनिश्चित करा सकेगा। सूचना देने वालों को डरने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि उसका नाम पूरी तरह गुप्त रहेगा। सी-विजिल एप प्ले स्टोर से एंड्रॉयड मोबाइल में डाउनलोड किया जा सकता है। इसे खोलते ही उसमें वीडियो व फोटो का ऑप्शन आता है। यदि आपको फोटो लेना है तो फोटो ऑप्शन को क्लिक कर आप फोटो खींच सकेंगे।

100 मिनट पर होगी कार्रवाई

इसके बाद यह पूछा जाएगा कि शिकायत का प्रकार क्या है। यह बताने के लिए एप में ऑप्शन मिलेंगे। ऑप्शन सलेक्ट करने के बाद आपकी शिकायत चुनाव आयोग को पहुंच जाएगी। इस शिकायत पर 100 मिनट में कार्रवाई सुनिश्चित होगी। इसी तरह वीडियो भी भेजा जा सकेगा। सी-विजिल एप अभी शुरू नहीं हुआ है, लेकिन टेस्टिंग के लिए चालू है।

इन अवैध कामों की कर सकेगें शिकायत

चुनाव आयोग ने शिकायत के प्रकार में धन का वितरण, शराब का वितरण, गिफ्ट, अनुमति के बिना पोस्टर, बैनर, आग्नेयास्त्र का प्रदर्शन, धमकी, अनुमति के बिना वाहन या कॉनवॉय, पेड न्यूज, संपत्ति का वितरण, मतदान दिवस पर मतदाताओं को लाना-ले जाना, अनिवार्य घोषणा के बिना पोस्ट व अन्य शामिल किए गए हैं। इनमें से कोई भी कृत्य नजर आने पर एप के माध्यम से शिकायत हो सकेगी। पहले से बनाया गया वीडियो या फोटो मान्य नहीं होगा। तत्काल खींचकर भेजा गया फोटो या वीडियो ही मान्य किया जाएगा।

GPS से ट्रेस होगी शिकायतकर्ता की लोकेशन

शिकायत करने वाले व्यक्ति की लोकेशन मोबाइल फोन के जीपीएस से मिलेगी। शिकायतकर्ता को यह बताने की आवश्यकता नहीं होगी कि वह कहां से शिकायत कर रहा है। यह ऑप्शन मोबाइल फोन के जीपीएस से अपने आप एक्टिव होगा और चुनाव आयोग को लोकेशन मिल जाएगी।

BY ANKIT TRIPATHI

Related posts

France Election: इमैनुएल मैक्रों फिर बने फ्रांस के राष्ट्रपति, दक्षिणपंथी नेता मरीन ले को दी मात

Neetu Rajbhar

देश की सबसे महंगी राखी, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश

Nitin Gupta

गुजरात: थाने में पूछताछ के बाद शख्स की मौत, लोगों ने थाने में हमले के साथ लगाई वाहनों में आग

Rani Naqvi