September 23, 2021 11:17 am
featured देश धर्म

देशभर में मनाया जा रहा बक़रीद का त्योहार, लोगों ने जामा मस्जिद में ऐसे अदा की नमाज

jama masjid देशभर में मनाया जा रहा बक़रीद का त्योहार, लोगों ने जामा मस्जिद में ऐसे अदा की नमाज

देशभर में आज ईद-उल-अज़हा यानी बक़रीद का त्योहार बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। ईद के मौके पर लोगों ने दिल्ली की जमा मस्जिद में नमाज़ अदा की।

नई दिल्ली। देशभर में आज ईद-उल-अज़हा यानी बक़रीद का त्योहार बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। ईद के मौके पर लोगों ने दिल्ली की जमा मस्जिद में नमाज अदा की। जमा मस्जिद में लोगों ने सुबह 6 बज कर 5 मिनट पर नमाज़ पढ़ी। कोरोना महामारी के चलते बार-बार लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ नमाज पढ़ने का आदेश दिया गया है। मस्जिद में नमाजियों को थर्मल स्क्रिनिंग के बाद ही मस्जिद में जाने की इजाज़त दी गई।

बता दें कि मस्जिद में नमाज़ के दौरान मिली जुली तस्वीरें देखने को मिली। मस्जिद में कुछ लोगों ने सरकार के आदेश के मुताबिक नमाज़ पढ़ी तो वहीं कुछ लोग सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते नजर आए। जिन लोगों ने आगे खड़े होकर नमाज़ अदा की उनमें दूरी दिखाई दी तो वहीं पीछे के लोगों नज़दीकी से नमाज़ पढ़ते दिखाई दिए।

https://www.bharatkhabar.com/cockroaches-are-making-china-rich/

वहीं ईद के मौके पर कुछ लोगों ने मस्जिद की सीढ़ियों पर नमाज़ पढ़ी। लेकिन नमाज पढ़ने के बाद लोग जल्दी में निकलने के कारण एक दूसरे से कंधे से कंधा मिलाकर बाहर निकलते दिखे। कई लोग नमाज़ के दौरान बिना मास्क के नजर आए। वहीं लोगों ने कबूल किया कि देरी से आने के कारण कुछ लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हुआ है।

बता दें कि ईद-उल फितर के बाद ईद-उल-अज़हा यानी बक़रीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व माना जाता है। दोनों ही मौके पर ईदगाह जाकर या मस्जिदों में खास नमाज़ अदा की जाती है। ईद-उल फितर पर शीर खुरमा बनाने का रिवाज है, जबकि ईद-उल जुहा पर बकरे या दूसरे जानवरों की कुर्बानी दी जाती है।

बकरीद आज, जानें त्योहार मनाने के लिए क्या हैं यूपी सरकार की गाइडलाइंस

हालांकि इस साल कोरोना वायरस के संकट की वजह से स्थिति अलग है। इसलिए त्योहारों पर जमा होने वाली भीड़ पर भी सरकार पाबंदियां लगा रही है। लिहाज़ा एहतियात के साथ पूरे देश में बक़रीद मनाई जा रही है।

Related posts

उत्तराखंडःमुख्यमंत्री ने ‘हिमालय बचाओं अभियान’ के तहत समाजिक कार्यकर्ताओं को हिमालय संरक्षण की शपथ दिलाई

mahesh yadav

स्कूलों को आदेश- लॉकडाउन की अवधि की लें केवल ट्यूशन फीस

Saurabh

दून मेडिकल कलेज में महिला ने शौचालय में बच्चे को जन्म दिया, उपचार के दौरान नवजात की मौत

mahesh yadav