featured यूपी

बागपत खूनी संघर्षः हाईवे पर खींची लकीर और दे डाली चुनौती, कहा- ‘दम है तो लाइन पार करो’

बागपत खूनी संघर्षः हाईवे पर खींची लकीर और दे डाली चुनौती, कहा- 'दम है तो लाइन पार करो'

बागपतः खूनी संघर्ष के मामले आपने बहुत सुने होंगे, लेकिन बागपत जिले में जो हुआ वैसा संघर्ष शायद ही पहले आपने सुना हो। मेरठ-बागपत हाईवे पर भारी संख्या में दो पक्ष जुट गए। हाईवे पर गुजरने वाले वाहनों को रोक दिया गया। फिर दोनों पक्षों में बवाल शुरू हुआ, लेकिन उससे पहले दोनों पक्षों के बीच एक लकीर खींच दी गई।

बागपत खूनी संघर्षः हाईवे पर खींची लकीर और दे डाली चुनौती, कहा- 'दम है तो लाइन पार करो'

दोनों पक्षों ने अपने-अपने हथियार उठाए और फिर युद्ध शुरू हो गया। इसमें महिला समेत 12 लोग घायल हो गए। वहीं, पुलिस पास में खड़ी होकर प्रत्यक्षदर्शी की भूमिक बड़ी ही कुशलता से निभाती रही। इस दौरान करीब 1 घंटे तक हाईवे पर वाहनों की रफ्तार थमी रही।

दम है तो लाइन पार करो

हाइवे पर बीच में लाकीर खींचकर दोनों पक्षों ने लाइन पार करने की चुनौती दे डाली और कहा- दम है तो लाइन पार करके दिखाओ। जिसके बाद दोनों पक्षों से लाइन पार करने की तैयारी शुरू हुई। फिर बवाल शुरू हुआ। दोनों ओर से जमकर ईंट पत्थर और धारदार हथियार चले। कुछ लोगों ने तो फायरिंग भी की।

चुनावी रंजिश बनी लड़ाई की वजह

दरअसल इस लड़ाई के पीछे का पुराना मामला ग्राम पंचायत का चुनाव है। डौला गांव के इरफान ने चुनाव लड़ा था, लेकिन वह चुनाव हार गए। वोट को लेकर गांव के ही जमालूद्दीन के परिवार से विवाद चल रहा था। बीते दो दिन पहले दोनों पक्षों में विवाद भी हुआ था। इस दौरान इरफार पक्ष का फारुख घायल हो गया था।

बागपत खूनी संघर्षः हाईवे पर खींची लकीर और दे डाली चुनौती, कहा- 'दम है तो लाइन पार करो'

इसी को लेकर शुक्रवार को इरफान के मकान पर पंचायत हो रही थी। इस दौरान दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई और कहासनी झगड़े में बदल गई। हाईवे पर चूना डालकर लकीर खींची गई और फिर दोनों पक्षों में जमकर मारपीट, लाठी-डंडे, हथियार चले। इस दौरान हुई भगदड़ में एक कार भी पथराव के चलते क्षतिग्रस्त हो गई।

घंटेभर बाद शांत हुआ बवाल

एक घंटे तक करीब चले इस बावल के बाद पहुंची पुलिस ने झगड़ा शांत कराया। हाईवे पर पुलिस को कारतूस का खोखा पड़ा मिला। पुलिस ने दोनों पक्षों में घायल हुए लोगों को इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया, पहीं सीओ अनुज मिश्र ने कहा है कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जायेगी।

Related posts

खैहरा के आरोपों पर विधानसभा में एकजुट दिखी कांग्रेस-अकाली

lucknow bureua

चाइनीज मांझे का शिकार हुआ मासूम बच्चा, हालत गंभीर

bharatkhabar

SC ने यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों के लिये आवास सुविधा को किया समाप्त, खाली करने होंगे बंगले

Rani Naqvi