September 26, 2022 9:24 am
featured धर्म

कहीं आप भी तो अपने प्रिय भाई को नहीं बांध रहीं अशुभ राखी..

rakhiyan कहीं आप भी तो अपने प्रिय भाई को नहीं बांध रहीं अशुभ राखी..

पवित्र त्यौहार रक्षा बंधन देश में 3 अगस्त को मानाया जाएगा। बहनें अपने भाइयों को अच्छी से अच्छी राखी बांधने के लिए काफी राखियां देख रही हैं। लेकिन क्या आपको पता राखी भी शुभ और अशुभ होती हैं। जिनके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

rakshabandhan raksha parv कहीं आप भी तो अपने प्रिय भाई को नहीं बांध रहीं अशुभ राखी..
चीन से आने वाली प्लास्टिक की राखियों का इस्तेमाल ना करें क्योंकि प्लास्टिक को केतु का पदार्थ माना जाता है और ये अपयश को बढ़ाता है। इसलिए रक्षाबंधन के दिन प्लास्टिक की राखियों से बचें।बाजार में कई तरह की डिजाइनर राखियां आ रही हैं जो भारतीय सभ्यता के हिसाब से सही नहीं बनाई जा रही हैं। इनके प्रयोग से बचें।

राखी ऐसी नहीं होनी चाहिए जिसमें कोई धारधार या किसी तरह का कोई हथियार बना हो।कई राखियों में भगवान के चित्र बने होते हैं। इस तरह की राखियों को शुभ नहीं माना जाता है। बहनों को इस तरह की राखी खरीदने से बचना चाहिए।बहनें कोशिश करें कि रेशम से बनी, कलावे की या सूती की राखी का प्रयोग करें। इस तरह की राखी बांधने से भाइयों के यश में वृद्धि होती है। कुछ राखियों में बहुत वर्क किया गया होता है. लोहे का वर्क की हुई राखियां भी खरीदने से बचें।

https://www.bharatkhabar.com/lk-advani-and-murli-manohar-joshi-still-not-invited-for-bhumipoojan/
रक्षा बंधन पर काल भद्रा का रखें ध्यान
रक्षा बंधन के पर्व पर भद्रा की साया रहती है लेकिन इस वर्ष भद्रा सुबह दिन में 08:28 तक ही रहेगी। इसके बाद 9 बजे तक राहु काल रहेगा। इसलिए इस समय के बाद राखी बांधी जा सकती है। दोपहर 2 से शाम 7 बजे के बीच लगातार चर लाभ और अमृत के तीन शुभ चौघड़िया मुहूर्त होंगे। इसलिए दोपहर 2 से शाम 7 बजे के बीच का पूरा समय भी राखी बांधने के लिए शुभ होगा।

Related posts

एनआरसी को पूरे देश में लागू किया जाएगा और अप्रवासियों को बाहर किया जाएगा: अमित शाह

Trinath Mishra

लखनऊ: दशहरी आम से गायब हो रही मिठास, जांच करने पर हुआ खुलासा

Shailendra Singh

झूठे वादों से लोगों को गुमराह कर नरेंद्र मोदी ने हासिल की सत्ता: मनमोहन सिंह

Trinath Mishra