एटीएम से अब नहीं निकलेगा नकली नोट, सिस्टम को अपडेट कर रहे बैंक

कानपुर: अगली बार आप बैंक के एटीएम में जाएंगे तो आपको नकली व कटे-भटे नोट को लेकर परेशान नहीं होना पड़ेगा। बैंक अब एटीएम मशीनों के साथ-साथ सॉफ्टवेयर को भी अपडेट कर रहे हैं।

अब एटीएम में रुपयों से भरी कैसेट को हर बार बदला जाएगा और उसे बैंक में जाकर बार-बार भरने के सिलसिले पर लगाम लगाई जाएगी। एटीएम की मेंटीनेंस कंपनी और बैंक के अधिकारियों के सामने कैसेट को भरकर सील किया जाएगा।

नकली नोटों के निकलने का सिलसिला जारी

बता दें कि एटीएम से नकली और कटे-फटे नोटों के निकलने का सिलसिला जारी है। तमाम कोशिशों के बाद भी इस पर लगाम नहीं लगाई जा सकी है। नकली नोट एटीएम मशीन में कहां से पहुंच जातें हैं इसकी जांच आरबीआई कर रहा है। गौरतलब है कि एटीएम के अंदर रखे चार कैसेट में अलग-अलग कीमत के नोट रखे जाते हैं। इसमें दो हजार के नोट पहले ही हटाए जा चुके हैं।

कुछ एटीएम मशीनों में अब भी दो हजार के नोट इक्का-दुक्का निकल जाते हैं, लेकिन इनकी संख्या काफी कम है। उसकी जगह पर अब एटीएम मशीनों में अधिकतर पांच सौ रुपये के नोट कैसेट में रखे जाते है।

नई व्यवस्था से काफी हद तक मिलेगी राहत

जानकारी के अनुसार 80 प्रतिशत एटीएम मशीनों में 500 की दो, दो सौ की एक और एक कैसैट 100 रुपये की होती है। इलाके में मांग के अनुसार इसमें बदलाव किया जाता है। रुपयों की कैसेट खाली होने पर बैंक के द्वारा उसे दोबारा भरा जाता है, लेकिन अब नई व्यवस्था में कैसेट को पहले से तैयार कर केवल रिप्लेस किया जाएगा। सीलबंद कैसेट को एटीएम मशीन में लगाकर खाली को हटा लिया जाएगा।

एटीएम किये जा रहे अपडेट

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के आदेश के बाद अब सारे बैंक अपने एटीएम को अपडेट कर रहे हैं। नई एटीएम मशीन को रिसाइक्लर मशीन नाम दिया गया है, इसमें तीन तरीके के फंक्शन होंगे। अब नई तकनीक से लैस होने के बाद एटीएम पैसा निकालेगा, पैसा जमा करेगा, और नकली नोट को पहचानकर उसे अलग कर देगा।

वहीं अगर कहीं तकनीकी गलती से कोई नकली नोट कैसेट में जमा हो गया है तो एटीएम का नया साफ्टवेयर उसे एक अलग कैसेट में जमा कर देगा। ये रकम ग्राहक के खाते में नहीं जुड़ेंगी, जिससे बैंक ग्राहक को किसी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा।

‘लगातार मिल रहीं शिकायतों पर उठाया कदम’

यूपी बैंक इम्पलाइज यूनियन के मंत्री रजनीश गुप्ता ने बताया कि एटीएम में खराब और नकली नोटों की शिकायतों को बैंक सदैव गंभीरता से लेते हैं। इसकी शिकायत दर्ज की जाती है और मेंटीनेंस कंपनी को सूचित किया जाता है। वहीं इस समस्या को रोकने के लिए ही लगातार एटीएम मशीनों को अपडेट करके आफिशियल इंटेलिजेंस से जोड़ा जा रहा है।

‘कटा-फटा नकली नोट मिले तो न हो परेशान’

पीएनबी ऑफिसर्स एसोसिएशन के सचिव अनिल मिश्रा ने बताया कि अगर एटीएम में नकली नोट मिले तो परेशान न हों। एटीएम के पास रखे रजिस्टर में इस शिकायत को दर्ज करें। उन्होंने कहा कि इसके साथ गार्ड से शिकायत करें और संबंधित बैंक शाखा में जाएं और वहां लिखकर दें। इसके लिए हेल्पलाइन भी है जिसपर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।

 

वाटर प्लांट की आड़ में चल रही थी शराब फैक्ट्री, आबकारी विभाग ने मारा छापा

Previous article

जो हम कहें वही ठीक है, सवाल पूछोगे तो पीटे जाओगे

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured