featured देश

असम चुनाव 2021: अमित शाह ने में चुनावी रैली को किया संबोधित,कांग्रेस और बदरूद्दीन अजमल पर साधा निशाना

amit shah in assam असम चुनाव 2021: अमित शाह ने में चुनावी रैली को किया संबोधित,कांग्रेस और बदरूद्दीन अजमल पर साधा निशाना

मोरीगांव ( असम) बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज असम की रैली में कांग्रेस और उसकी गंठबंधन सहयोगी एआईयूडीएफ पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने कहा कि असम में बीजेपी की सत्ता में आयी तो ‘लव  और लैंड जिहाद’ रोकने के लिए कानून बनाएगी।

एआईयूडीएफ प्रमुख बदरूद्दीन अजमल पर साधा निशाना 

अमित शाह ने एआईयूडीएफ प्रमुख बदरूद्दीन अजमल पर निशाना साधते हुए कहा कि वो उन्हें असम की पहचान नहीं बनने देंगे, इस दौरान उन्होंने राहुल गांधी पर भी निशाना साधा उन्होंने कहा काग्रेंस पार्टी बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान बताती है, उन्होंने कहा बदरुद्दीन अजमल कांग्रेस पार्टी के लिए पहचान हो सकते है, असम के लिए नहीं उन्होंने असम के प्रसिध्द कवि माधवदेव जी को असम की पहचान बताया।

बीजेपी ही असम में घुसपैठ को रोक सकती है 

घुसपैठियों के मुद्दा उठाते हुए अमित शाह ने कहा काग्रेस पार्टी घुसपैठियों को बढावा देती है, जिससे असम सहित पूरे भारत की सुरक्षा व्यवस्था को खतरा है। गृहमंत्री ने कहा अगर कांग्रेस और बदरुद्दीन की सरकार सत्ता में आई तो असम में घुसपैठियों की बाढ आ जाएगी। उन्होंने कहा अगर असम को घुसपैठियों से मुक्त कराना है तो ये काम केवल बीजेपी ही कर सकती है.

बदरूद्दीन अजमल पर  लैंड जेहाद का लगाया आरोप 

अमित शाह ने कहा काजीरंगा के जंगलों में घुसपैठियों ने कब्जा कर रखा था। लैंड जेहाद के माध्यम से असम की पहचान को बदलने का काम बदरूद्दीन अजमल ने किया था. काग्रेंस पार्टी सत्ता के लालच में आज उसी बदरुद्दीन अजमल के साथ दे रही है।

असम को आतंकवाद मुक्त बनाया 

उन्होंने असम के विकास की बात करते हुए कहा कि बीजेपी ने असम में जितने विकास कार्यो किए हुए उतना कोई पार्टी नहीं कर सकती। असम में हर पांच वर्ष में करीब 7 प्रतिशत भूमि नदियां बहाकर ले जाती हैं, इसके संरक्षण के लिए ब्रहमपुत्र के आसपास बड़े बड़े तलाब बनाएंगे उन्होंने कहा बीजेपी ने असम  को आंदोलन मुक्त, और आतंकवाद मुक्त बनाया है।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पूरे देश में बिखरी हुई पार्टी है। इनके पास भाई- बहन के पर्यटन के अलावा कोई एजेंडा नहीं बचा है. काग्रेस असम का विकास नहीं कर सकती असम का विकास मोदी जी के नेतृत्व में बीजेपी ही कर सकती है।

असम में विधानसभा की 126 सीटें

असम विधानसभा में 126 सीटें है और यहां तीन चरणों में मतदान होगा. दो मई को चुनाव परिणाम घोषित किए जाएंगे। पहले चरण में 12 जिलों की 47 विधानसभा सीटों में वोट पडेंगे। पहले चरण की अधिसूचना दो मार्च को जारी की गई, 27 मार्च को मतदान होगा और दो मई को नतीजे आंएंगे। 13 जिलों की 39 विधानसभा सीटों का चुनाव दूसरे चरण में होगा. दूसरे चरण की अधिसूचना पांच मार्च को जारी हो गई, 27 मार्च को मतदान होगा और दो मई को नतीजे आएंगे। 12 जिलों की 40 विधानसभा सीटों के लिए 6 अप्रैल को मतदान होगा। इस चरण की अधिसूचना 12 मार्च को जारी हो गई।

Related posts

पाकिस्तान में दो हिंंदू व्यापारियों की गोली मारकर हत्या, पुलिस ने बताया लूट का मामला

Breaking News

तेलंगाना : भाजपा ने जारी किया घोषणापत्र, पेट्रोल-डीजल में टैक्स घटाने का वादा

mahesh yadav

हिमाचल चुनाव के लिए उम्मीदवारों की टिकट फाइनल करने में जुटी बीजेपी और कांग्रेस

Rani Naqvi