1036a29a c32c 4a28 a962 008d7a04ce40 बेवसीरीज 'आश्रम' की डॉ. अनुप्रिया ने किया आध्यात्मिकता से जुड़ी बात पर खुलासा, कहा- एक बाबा के साथ उनका अनुभव बुरा रहा
फाइल फोटो

बॉलीवुड। अभिनेता बॉबी देओल की बेवसीरीज आश्रम का दर्शकों को पहले सीजन के बाद से दूसरे के आने का इंतजार था। लेकिन दर्शकों का वो इंतजार 11 नवंबर 2020 को पूरा हो गया। आश्रम के दूसरे सीजन को भी लोगों ने खूब पसंद किया। इस बेवसीरीज में डॉक्टर का किरदार निभाने वाली अनुप्रिया गोनायक ने एक खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि उनका एक बाबा के साथ बुरा अनुभव रहा है। जिसमें उन्होंने अपने साथ 18 साल की उम्र में हुई घटना के बारे में बताया। उन्होंने बताया के जब वो 18 साल की तब एक बाबा ने उनका फायदा उठाने की कोशिश की थी। उनके परिवार को उस बाबा पर बेहद भरोसा था। फिल्ममेकर प्रकाश झा की इस बेवसीरीज में अनुप्रिया की अदाकारी को काफी सराहा जा रहा है।

क्या है आध्यात्मिकता पर अनुप्रिया की राय-

बता दें कि अनुप्रिया गोयनका ने एक टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए अपने इंटरव्यू में कहा,”मेरे पिता बेहद आध्यात्मिक थे। आध्यात्मिकता की मेरी परिभाषा और उनकी अलग-अलग हैं। अध्यात्म की मेरी परिभाषा यह है कि जब आप ब्रह्मांड में विश्वास करते हैं, तो हमारे ऊपर कुछ बाहरी शक्ति के अस्तित्व में विश्वास करना, अच्छे विचारों पर विश्वास करना और विश्वास करना एक बड़ी ताकत है, ऊर्जा शायद। मुझे विश्वास है कि वहाँ भगवान है क्योंकि यह मुझे बेहतर महसूस करता है। अनुप्रिया ने आगे कहा, “मुझे विश्वास है कि ईश्वर है लेकिन मेरे लिए आध्यात्मिकता का मतलब है कि मैं जीवन में कुछ सार्थक काम करने में सक्षम हूं। लेकिन मेरे पिता के लिए आध्यात्म, हमेशा एक बाबा को खोजने के बारे में है और जीवन में हर दूसरे काम को छोड़कर अपने आप को उस आस्था के लिए समर्पित कर रहा है। यह वास्तव में एक परिवार के रूप में बहुत नुकसान पहुंचाता है। इसने उन्हें एक पिता के रूप में, एक पति के रूप में अपनी जिम्मेदारी से दूर कर दिया।

बाबा ने की फायदा उठाने की कोशिश- 

अनुप्रिया गोयनका ने आगे कहा, “मेरे पास एक आध्यात्मिक नेता के साथ एक अनुभव था। जिसने मेरा फायदा उठाने की कोशिश की और ऐसा हो भी जाता। क्योंकि मैं उम्र में बहुत छोटी थी। वह कोई ऐसा व्यक्ति था जिस पर मुझे विश्वास होने लगा था, वह व्यावहारिक और वाजिब लग रहा था। मेरे पूरे परिवार ने उसपर भरोसा किया और उसने 17 या 18 साल की उम्र में मेरा फायदा उठाने की कोशिश की और इसने मुझे लंबे समय तक डराया। शुक्र है मैंने उसे फायदा उठाने नहीं दिया और वहां से भाग निकली।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

सोने की कीमतों में उछाल, चांदी में आई गिरावट!

Previous article

त्यौहार के मौके पर मुख्यमंत्री रावत ने अधिकारियों को कोविड टेस्टिंग के दिए सख्त निर्देश, 15 दिन सतर्कता बरतने की जरूरत

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.