नई दिल्ली: इराकी एयरबेस पर अमेरिकी सैन्‍य ठिकानों पर एक और रॉकेट हमले के बाद अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर है। लंबे समय से प्रतिद्वंद्वी रहे अमेरिका और ईरान के बीच तनाव के बीच युद्ध छिड़ने की भी आशंका जताई जा रही है। इसी बीच ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनाई ने क्षेत्रीय देशों में सहयोग बढ़ाने का आग्रह किया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, कतर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी के साथ बैठक के दौरान खामेनी ने कहा कि क्षेत्र की वर्तमान स्थिति विदेशियों पर निर्भरता से बचने के लिए क्षेत्रीय सहयोग को आवश्यकता बनाती है।

उन्होंने कहा कि ईरान ने बार-बार घोषणा की है कि वह क्षेत्रीय देशों में घनिष्ठ सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार है। खामेनी ने ईरान और कतर के बीच आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने का भी आग्रह किया है। कतर के अमीर शेख ने कहा कि हम भी क्षेत्रीय देशों में सहयोग बढ़ाने के आपके विचार से सहमत हैं और मानते हैं कि क्षेत्रीय देशों के बीच व्यापक वार्ता होनी चाहिए। पिछले कुछ सालों में कुछ अरब देशों द्वारा प्रतिबंध लगाने पर कतर को ईरान से समर्थन मिलने के लिए उन्होंने खामेनी का आभार जताया।

वहीं इसके पहले ईरान ने कहा था कि दुनिया में शांति बनाए रखने में भारत की अहम भूमिका रहती है इसलिए ईरान ने भारत से मदद की गुहार लगाई है। भारत में ईरान के राजदूत अली चेगेनी ने के मुताबिक अमेरिका के साथ तनाव कम करने में अगर भारत की तरफ से कदम उठाया जाता है तो ईरान उसका स्वागत करेगा। भारत में ईरान के राजदूत अली चेगेनी ने ट्विटर पर लिखा है ‘हम युद्ध नहीं चाहते हैं, हम क्षेत्र में सभी लोगों के लिए शांति और समृद्धि चाहते हैं। हम भारत के किसी भी कदम और परियोजना का स्वागत करते हैं जो दुनिया में शांति और समृद्धि लाने में मददगार हो।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    सोनिया गांधी ने बुलाई नागरिकता कानून को लेकर बैठक, जाने विपक्षी पार्टियों ने क्या दिया जवाब

    Previous article

    पर्वतीय खेती के लिए जलाशयों और झीलों का संवर्धन जरूरी : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in featured