अब कोरोना से बचाएगा एंटी कोरोना स्मार्ट बैग, गुमशुदा बच्चों को भी करेगा ट्रैक

शैलेंद्र सिंह, लखनऊ: देशभर में कोरोना वायरस एक बार फिर अपना कहर बरसा रहा है। प्रतिदिन नए मरीजों और संक्रमितों की मौतों का आंकड़ा दहशत पैदा कर रहा है। आलम यह है कि कोरोना के कारण देशभर में लगभग सभी स्‍कूल-कॉलेज बंद किए जा रहे हैं।

ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 11वीं के एक छात्र ने ऐसा स्‍कूल बैग तैयार किया है, जो न सिर्फ बच्‍चों को कोरोना संक्रमण से बचाएगा बल्कि उनके गुमशुदा हो जाने पर उन्‍हें ट्रैक भी किया जा सकेगा।

फॉलो कराएगा सोशल डिस्‍टेंसिंग

यूपी के वाराणसी जिले के आर्यन इंटरनेशनल स्‍कूल में पढ़ने वाले साइंस के छात्र पुष्‍कर सिंह ने स्‍कूली बच्‍चों के लिए ‘एंटी कोरोना स्‍मार्ट स्‍कूल बैग’ बनाया है। यह स्‍मार्ट बैग सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो कराने के साथ ही बच्चों के गुम हो जाने पर उन्‍हें उनके परिवार तक पहुंचाने में पुलिस की मदद भी कर सकता है।

anti corona smart bag अब कोरोना से बचाएगा एंटी कोरोना स्मार्ट बैग, गुमशुदा बच्चों को भी करेगा ट्रैक

 

छात्र पुष्‍कर सिंह ने भारत खबर को जानकारी देते हुए बताया कि, उन्‍होंने कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार को देखते हुए यह एंटी कोरोना स्‍मार्ट सकूल बैग बनाया है। यह स्‍मार्ट बैग कोरोना से बचाव में दो गज की दूरी बनाने में बच्‍चों को अलर्ट कर करेगा।

दो मीटर का दायरा घटते ही बजेगा अलार्म    

छात्र पुष्‍कर ने बताया कि, इस बैग के आगे व पीछे दो अल्ट्रासोनिक सेंसर लगाए गए हैं। इस बैग को पीठ पर टांगते ही बैग के सेंसर एक्टिव हो जाते हैं। इससे आपके चारों तरफ (आगे, पीछे, दाएं और बाएं) दो मीटर के दायर में कोई आ जाता है तो तुरंत अलार्म बजने लगेगा, जिससे आप अलर्ट होकर उससे दूरी बना सकते हैं। इस तरह आप आसानी से सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन कर सकेंगे।

anti corona bag अब कोरोना से बचाएगा एंटी कोरोना स्मार्ट बैग, गुमशुदा बच्चों को भी करेगा ट्रैक

 

स्‍मार्ट बैग में लगाया गया है बारकोड: पुस्‍कर सिंह

पुष्‍कर सिंह ने बताया कि, इस बैग पर एक बारकोड भी लगा है। इसमें बच्चों के परिवार के लोगों के एड्रेस, कॉन्‍टैक्‍ट डिटेल्‍स होंगे, जिससे बच्‍चे के खो जाने पर बारकोड को स्‍कैन करके उसके परिवार के बारे में जानकारी मिल जाएगी और बच्‍चे को उसके घर तक आसानी से पहुंचाया जा सकता है।

साइंस के छात्र पुष्‍कर ने बताया कि, इस स्‍मार्ट स्‍कूल बैग को करीब एक हफ्ते का समय लगा है और इसमें लगभग 2500 रुपए का खर्च आया है। इसे तैयार करने में ऑर्डिनो, अल्ट्रासोनिक सेंसर, 3.7 वोल्ट बैट्री, अलार्म, पूस स्विच और बारकोड का इस्तेमाल किया गया है।

पीएम से लेकर सीएम तक लिखा पत्र: विनीत चोपड़ा

वहीं, आर्यन इंटरनेशनल स्कूल के चेयरमैन विनीत चोपड़ा ने भारत खबर से बाचतीच में कहा कि, हमारे स्‍कूल के छात्र ने जो स्‍मार्ट बैग बनाया है, वह न सिर्फ बच्‍चों बल्कि सेफ्टी ट्रैवल बैग के रूप में सभी के लिए महत्‍वपूर्ण साबित होगा। यह स्‍मार्ट बैग हमारे ही स्‍कूल के डॉ. एपीजे अब्‍दुल कलाम स्‍मार्ट लैब में बनाया गया है। इस तकनीक को सभी के लिए इस्तेमाल करने के लिए हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियल निशंक और मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को एक पत्र लिखा है।

aryan internationa school अब कोरोना से बचाएगा एंटी कोरोना स्मार्ट बैग, गुमशुदा बच्चों को भी करेगा ट्रैक

 

सांसद जगदंबिका पाल को हुआ कोरोना, खुद को किया क्वारंटीन, जानिए कैसे आए चपेट में

Previous article

उत्तराखंड: अध्यक्ष के रूप में प्रेमचंद अग्रवाल के चार साल पूरे, सीएम तीरथ ने काम को सराहा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured