civil hospital lucknow लखनऊ में तेजी से बढ़ रहा कोरोना, सिविल के चार और डॉक्‍टर पॉजिटिव  

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। शुक्रवार को आई कोरोना टेस्‍ट रिपोर्ट में बीते 24 घंटे में शहर में 2,934 नए संक्रमित मिले। वहीं, 14 मरीजों ने दम तोड़ दिया।

शनिवार को लखनऊ के डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी अस्पताल (सिविल) के चार और डॉक्‍टर कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। जानकारी के मुताबिक, सिविल अस्‍पताल के डॉ. दीपक कुमार चौधरी, डॉ. रोजश श्रीवास्‍तव (हृदय रोग विशेषज्ञ), डॉ. रश्मि शर्मा और डॉ. राकेश सिंह कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं।

कोरोना की चपेट में मंत्री आनंद स्‍वरूप  

वहीं, यूपी सरकार में संसदीय कार्य व ग्राम्‍य विकास राज्यमंत्री आनंद स्वरूप  शुक्ला भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। कोरोना के लक्षण दिखने पर उन्होंने गुरुवार को जांच कराई और शुक्रवार को आई टेस्‍ट रिपोर्ट में वह पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद उन्‍होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। मंत्री आनंद स्‍वरूप ने ट्वीट करते हुए लोगों से अपील की है कि, पिछले दिनों उनके संपर्क में जो भी लोग आए हैं, वे अपनी जांच करा लें।

mantri anand लखनऊ में तेजी से बढ़ रहा कोरोना, सिविल के चार और डॉक्‍टर पॉजिटिव  

 

उधर, राजधानी लखनऊ स्थित सिविल अस्पताल के ही एक डॉक्टर के पिता की मौत इलाज के अभाव में हो गई। जानकारी के मुताबिक, सिविल अस्‍पताल के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्‍टर के पिता बीमार थे और इलाज के दौरान डॉक्‍टर कोरोना पॉजिटिव हो गए और उनकी वजह से घर के चार अन्‍य सदस्‍य भी कोरोना संक्रमित हो गए।

दाह संस्‍कार के लिए घंटों का इंतजार

बीमार पिता के इलाज के लिए डॉक्‍टर ने कोविड सेंटर में फोन किया, बावजूद इसके उन्‍हें मदद नहीं मिली। उन्‍हें लोकबंधु अस्पताल में इलाज के लिए बेड नहीं मिला। आइसीयू में बेड और ऑक्सीजन न मिलने के कारण डॉक्‍टर के पिता की मौत हो गई। जहां एक ओर डॉक्टर अपने पिता का समय से इलाज नहीं करवा सकता तो वहीं उनके दाह संस्‍कार के लिए भी कई घंटों का इंतजार करना पड़ा।

सीएम योगी की समीक्षा बैठक, इन जगहों पर कोरोना कर्फ्यू लगाने का दिया निर्देश

Previous article

Exclusive : कोरोना से हालात बेकाबू, शवों की लगी आधा किलो मीटर लंबी कतार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.