August 10, 2022 11:28 pm
featured यूपी

बीजेपी अनुसूचित मोर्चा की राष्ट्रीय सोशल मीडिया प्रभारी बनीं अनीमा सोनकर, जानिए इनके बारे में

प्रयागराज की अनीमा सोनकर जी को भाजपा अनुसूचित मोर्चा की राष्ट्रीय सोशल मीडिया प्रभारी बनने पर भाजपाइयों ने उन्हें दी बधाई l

प्रयागराज: भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने प्रयागराज की अनीमा सोनकर को भाजपा अनुसूचित मोर्चा की राष्ट्रीय सोशल मीडिया प्रभारी बनाया है। इस खुशी में उनको बधाई देते हुए भाजपा महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी ने शीर्ष नेतृत्व के प्रति आभार जताया।

जेएनयू की शोध छात्रा हैं अनीमा

इस विषय पर मीडिया प्रभारी राजेश केसरवानी ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रयाग की अनीमा सोनकर जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय की इंटरनेशनल रिलेशन की शोध छात्रा है। उन्होंने कहा कि वो 2013 से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में विभिन्न दायित्वों का निर्वहन कर चुकी हैं।

एबीवीपी की रह चुकी हैं पार्षद उम्मीदवार

इससे पूर्व में वो दिल्ली प्रांत की सह मंत्री भी रह चुकी हैं। इसके अलावा अनीमा सोनाकर जेएनयू की छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की तरफ से पार्षद उम्मीदवार भी रह चुकी हैं। इसके अलावा अनीमा ने जेएनयू में देश विरोधी नारों का भी विरोध किया था और आठ दिनों के लिए उन्होंने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की थी।

पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने दी जिम्मेदारी

उनकी कामों से खुश होकर बुधवार को उन्हें पार्टी के शीर्ष नेतृत्व द्वारा भाजपा अनुसूचित मोर्चा की राष्ट्रीय सोशल मीडिया प्रभारी नियुक्त किया गया।

इस मौके पर बधाई देने वालों में मुख्य रूप से कुंजबिहारी मिश्रा, देवेश सिंह, पवन केसरवानी, राजेश केसरवानी, विवेक अग्रवाल, राजू पाठक राजन शुक्ला, पार्षद किरण जायसवाल, आभा सिंह, शोभिता श्रीवास्तव, माया द्विवेदी, दुर्गेश नंदिनी, वर्षा जायसवाल, पूनम सोनकर, रेखा यादव, मीनू पांडे किरण, पूर्वी जायसवाल एवं भारतीय जनता पार्टी के भाजपा महिला मोर्चा और अनुसूचित मोर्चा के सभी पदाधिकारी कार्यकर्ताओं ने उन्हें बधाई दी।

Related posts

एमपी के 52 जिलों में से 9 जिलों में अभी भी शराब की दुकानें खोलने को लेकर कोई फैसला नहीं 

Shubham Gupta

Mahashivratri 2021 Special: ये हैं उत्तर प्रदेश के प्रमुख शिवालय, आप भी जान लीजिए

Shailendra Singh

गंगा रक्षा के लिए समर्पित संस्था मातृ सदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद सरस्वती आमरण अनशन पर बैठे

Rani Naqvi