featured देश धर्म राज्य

आंध्र प्रदेश में दशहरा पर ‘बन्नी उत्सव’ के दौरान दर्जनों लोग हुए घायल, जानिए इस अजीबोगरीब परंपरा के बारे में

बन्नी उत्सव आंध्र प्रदेश में दशहरा पर 'बन्नी उत्सव' के दौरान दर्जनों लोग हुए घायल, जानिए इस अजीबोगरीब परंपरा के बारे में

आंध्र प्रदेश में कुरनूल जिले के होलागोंडा मंडल के देवरगट्टू गांव में दशहरा यानी कल बन्नी उत्सव की परंपरा लड़ाई ने हिंसक रूप ले लिया जिसमें दर्जनों लोग घायल हो गए। यह घटना उस वक्त हुई जब बरसों से दशहरा पर मनाई जा रहे बन्नी उत्सव की परंपरागत लड़ाई में गांव के दो घुट प्रतिद्वंदी गुट में तब्दील हो गए और एक दूसरे के ऊपर लाठी से हमला करने लगें।

पुलिस द्वारा साझा की गई जानकारी के मुताबिक इस हिंसक झड़प में लगभग 60 लोग घायल हुए हैं जिनमें से चार की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है।

हालांकि इस साल भी आंध्र प्रदेश पुलिस ने उत्सव को रोकने के लिए कई प्रबंध किए थे लेकिन इसके बावजूद भी कोरोना महामारी की धज्जियां उड़ाते हैं बन्नी उत्सव को धूमधाम से मनाया गया और लगभग 12:00 बजे माला मल्लेश्वर मंदिर में पूजा करने के बाद स्थानीय लोगों ने बन्नी उत्सव शुरू किया। जिसने देखते ही देखते ही हिंसक रूप धारण कर लिया और यह हिंसक झड़प सुबह तक चलती रही।

दशहरे के मौके पर डंडे से पीटने की है प्रथा

आंध्र प्रदेश के इस गांव में दशहरे के मौके पर एक दूसरे को डंडे से पीटने की परंपरा कई वर्षों से चली आ रही है इस परंपरा के अनुसार एक गुट के लोग दूसरे गुट के लोगों के सर पर वार करते हैं जिससे हर साल काफी संख्या में लोग बुरी तरीके से घायल होते हैं। यही कारण है कि हर साल सरकार यहां इस उत्सव पर रोक लगाती है  लेकिन इसके बावजूद भी बन्नी उत्सव मनाया जाता है और इस साल करीब इस उत्सव में हिंसक झड़प के कारण 60 से अधिक लोग घायल हैं।

दशहरे के मौके पर ऐसे हालातों को देखते हुए प्रत्येक वर्ष आंध्र प्रदेश की सरकार सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था करती है साथ ही बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात करती है। एवं पूर्वअनुमानित हिंसा के आधार पर फर्स्ट ऐड चिकित्सा की भी व्यवस्था पहले से ही की जाती है।

Related posts

कमलेश तिवारी की हत्या के आरोप में बरेली केवकील समेत तीन और गिरफ्तार

Rani Naqvi

गरबा देखने पर दलिय युवक को पीटा, मौत

Pradeep sharma

नोरा फतेही के इंस्टाग्राम पर हुए 20 मिलियन फॉलोवर्स, मोरक्को में मनाया जश्न

Aman Sharma