amarnath yatra from1 july लगातार दूसरे साल रद्द हुई अमरनाथ यात्रा, भक्त ऑनलाइन कर सकेंगे दर्शन

देश में कोरोना से स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक अमरनाथ की यात्रा को रद्द कर दिया गया है। पिछले साल भी कोरोना के चलते ही अमरनाथ यात्रा रद्द कर दी गई थी। हालांकि श्रद्धालु 28 जून से ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे।

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने दी जानकारी

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बताया कि कोरोना की स्थिति को देखते हुए अमरनाथ यात्रा रद्द कर दी गई है। श्राइन बोर्ड के सदस्यों के साथ हुई बैठक के बाद ये फैसला लिया गया है। वहीं यात्रा केवल प्रतीकात्मक होगी, हालांकि सभी पारंपरिक धार्मिक अनुष्ठान पिछले साल की तरह किए जाएंगे।

मनोज सिन्हा ने कहा कि इस वक्त लोगों की जान बचाना जरूरी है। ऐसे में इस साल तीर्थयात्रा आयोजित करना चित नहीं है। वहीं श्री अमरनाथ छड़ी मुबारक 22 अगस्त को गुफा में ले जाया जाएगा।

28 जून से 22 अगस्त तक होनी थी यात्रा

बता दें कि इस बार की यात्रा 28 जून से 22 अगस्त तक होने वाली थी। जो बालटाल मार्ग से होते हुए पहलगाम के रास्ते अमरनाथ गुफा तक जाती, और भक्त बाबा बर्फानी के दर्शन करते। जो गुफा मंदिर 3,880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

टीवी पर होगा सीधा प्रसारण

कोरोना की वजह से रद्द हुई अमरनाथ यात्रा को पिछले साल की तरह इस बार भी श्रद्धालुओं को बाबा बर्फानी की सुबह और शाम की आरती का टीवी टैनलों पर सीधा प्रसारण देखने को मिलेगा। इसके लिए श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने टेंडर कर दिए हैं।

तेजी से हो रहे थे पंजीकरण

प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक अमरनाथ की यात्रा पिछले साल भी रद्द की गई थी। लेकिन जब इस साल पंजीकरण शुरू हुए तो श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह देखने को मिला था। अमरनाथ यात्रा 2021 के लिए करीब 30 हजार यात्रियों ने अग्रिम ऑनलाइन पंजीकरण करवा लिया था।

बसपा-आसपा का गठबंधन संभव, मायावती से हुई बात: चंद्रशेखर

Previous article

कोरोना के कारण लगातार दूसरी साल अमरनाथ यात्रा रद्द, ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured