कोरोना को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, नौ को बंद रहेगी प्रयागराज और लखनऊ बेंच

प्रयागराज: प्रयागराज में कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अहम निर्णय लिया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक फैसले में प्रयागराज और लखनऊ बेंच को बंद रखने का फैसला लिया है।

नौ अप्रैल को नहीं होगी ई-फाइलिंग 

अब नौ अप्रैल को हाईकोर्ट में कोई सुनवाई नहीं होगी। शुक्रवार को न तो कोर्ट में कोई सुनवाई होगी और न ही फिजीकल या इंटरनेट के द्वारा ई-फाईलिंग होगी। वहीं आगे के आदेश तक कोर्ट में कोई भी न्यायिक कार्य नहीं होगा।

जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ये फैसला लिया है। संगम नगरी प्रयागराज में पहले से ही कोरोना का ब्लास्ट हुआ है। जिले का कटरा इलाका पहले से ही हॉटस्पॉट में घोषित है। इसी इलाके में इलाहाबाद हाईकोर्ट आता है। इस इलाके में कोरोना के ज्यादा मामले देखने को मिले हैं।

हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच भी बंद

वहीं राजधानी लखनऊ में भी कोरोना कहर बनकर टूटा है। लखनऊ में कोरोना संक्रमण को देखते हुए ही इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपनी लखनऊ बेंच को भी एक दिन के लिए बंद रखने क फैसला किया है। कोर्ट ने ये फैसला इसलिए लिया है जिससे यहां आने वाले लोगों के साथ-साथ वकीलों और जजों को भी कोरोना के संक्रमण से बचाया जा सके।

पहले भी बंद हो चुका है कोर्ट

बता दें कि इससे पहले भी इलाहाहबाद हाईकोर्ट ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए एक और दो अप्रैल को हाईकोर्ट को बंद रखने का फैसला लिया था। कोर्ट ने साफ किया था कि बिना मास्क और स्क्रीनिंग के किसी का भी प्रवेश हाईकोर्ट परिसर में नहीं होगा और न ही इस दौरान ई-फाइलिंग ही की जा सकेगी।

लगाया गया नाइट कर्फ्यू

इसके साथ ही इलालाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए योगी सरकार से नाइट कर्फ्यू के बारे में भी सोचने को कहा था। जिसका पालन करते हुए योगी सरकार ने प्रदेश के बड़े शहरों मसलन गाजियाबाद, वाराणसी, कानपुर, नोएडा और लखनऊ में नाइट कर्फ्यू का प्रावधान कर दिया है।

बिहार: 31 मई तक रद्द की गईं सभी डॉक्टर्स-मेडिकल स्टाफ की छुट्टियां

Previous article

IPL: एक सीजन में टीम के लिए इस खिलाड़ी ने ठोके सबसे ज्यादा रन

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured