इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला 12 अप्रैल से होगी मुकदमों की वर्चुअल सुनवाई

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट में 12 अप्रैल से एक बार फिर से वर्चुअल सुनवाई की व्यवस्था को लागू करने का निर्णय लिया गया है। शुरुआती दौर में मुकदमों को सुनने के लिए 25 अदालतें बैठेंगी। फिर आवश्यकतानुसार विचाराधीन मुकदमों की संख्या को देखते हुए अदालतों की संख्या घटाई या बढ़ाई जा सकेती है।

शाम 4 बजे तक होगा दाखिला

पहले से दाखिल मुकदमे अदालतों में सुनवाई के लिए पेश होंगे और इस दौरान अधिवक्ता, वादकारी व अधिवक्ता लिपिकों की परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जायेगी। मुकदमों का दाखिला शारीरिक रूप से एवं ई-मोड, दोनों तरीके से किया जाएगा और दाखिला परिसर से बाहर स्थित काउंटर पर शाम 4 बजे तक होगा। इसके साथ-साथ परिसर के बाहर कार्यालय के काउंटरों पर स्टाफ की तैनाती रोस्टर से की जाएगी एवं निश्चित संख्या में मुकदमे कोर्ट में पेश होंगे।

बीएसएनएल कंपनी देगी तेज इंटरनेट

वर्चुअल सुनवाई के दौरान इंटरनेट स्पीड सही रखने के लिए बीएसएनएल कंपनी को आदेश दिए गए हैं ताकि स्पीड के कारण सुनवाई प्रक्रिया में बाधा न उत्पन्न हो। इन सभी के साथ साथ परिसर का सैनिटाइजेशन समयानुसार होता रहेगा। इसकी जानकारी निबंधक प्रोटोकॉल आशीष कुमार श्रीवास्तव ने दी है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला 12 अप्रैल से होगी मुकदमों की वर्चुअल सुनवाई

नई लहर से संगम नगरी में बढ़ा खतरा

कोरोना की दूसरी लहर उत्तर प्रदेश में लगातार कहर ढा रही है। इसी का परिणाम है कि आए दिन 15000 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं प्रयागराज में भी 1500 से अधिक लोग संक्रमित पाए गए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार लोगों से मास्क लगाने का और सैनिटाइजर जैसी चीजों का इस्तेमाल करने की लगातार अपील कर रहे हैं। टीका उत्सव के माध्यम से 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को टीका लगाया जा रहा है। इस बड़े अभियान में आम जनता की भागीदारी भी काफी अहम है, इसीलिए जागरूकता अभियान को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों की सैंड आर्ट में आखिर क्यों दिखी यूपी पुलिस की छवि

Previous article

अब ‘लालजी टंडन चौराहा’ कहलाएगा चौक चौराहा, मुख्‍यमंत्री ने किया नामकरण

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured