delhi corona दिल्ली में कोरोना को लेकर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक खत्म लेकिन चिंता अभी भी जारी!

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोविड-19 महामारी की स्थिति पर चर्चा करने के लिए आज सर्वदलीय बैठक बुलाई. दिल्ली में 28 अक्तूबर के बाद से covid-19 के नए मामलों में काफी वृद्धि दर्ज की गई है. 28 अक्तूबर को रोज सामने आने वाले मामलों का आंकड़ा पहली बार 5,000 के पार कर गया था. 11 नवंबर को ये संख्या 8,000 का आंकड़ा पार कर गई थी. जानकारी के मुताबिक, बैठक के लिए आम आदमी पार्टी (AAP), भाजपा, कांग्रेस और अन्य दलों के नेता शामिल हुए.

देश की राजधानी दिल्ली में बीते कई दिनों से कोरोना वायरस के मामले रिकॉर्ड संख्या में दर्ज हो रहे हैं. एक दिन पहले ही यहां रिकॉर्ड संख्या में 131 मौत भी दर्ज की गई है. राजधानी में बढ़ता कोरोना का खतरा सरकार के लिये चिंता का विषय बन चुका है.

कांग्रेस ने बाजार बंद करने का किया विरोध
कोरोना को लेकर दिल्ली सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस ने बाजारों को बंद करने का विरोध किया है. इसके अलावा भाजपा ने कुप्रबंधन और बेड की संख्या में वृद्धि का मामला उठाया. कांग्रेस ने सार्वजनिक रूप से छठ पर प्रतिबंध नहीं लगाने के लिए दिल्ली सरकार को एक चिट्ठी भी दिया है.

देश में कोरोना का आंकड़ा 89 लाख 60 हजार के करीब पहुंच गया है. 24 घंटे में करीब 45 हजार नए मामले सामने आए हैं, जबकि इतने ही समय में करीब 49 हजार लोग रिकवर हुए हैं. 580 से ज्यादा लोगों ने जान गंवा दी. एक दिन पहले की तुलना में ये आंकड़े कुछ ज्यादा हैं. इसके साथ ही देश में एक्टिव केस की संख्या 4 लाख 43 हजार के करीब हो गई है. मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख 31 हजार 600 से ज्यादा हो गया है.

दिल्ली में कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए गृह मंत्रालय ने बड़ा कदम उठाया है. गृह मंत्रालय ने एक्सपर्ट की 10 टीमों का गठन किया है. ये टीम दिल्ली के अस्पतालों का दौरा करेगी. ये अस्पतालों की टेस्ट क्षमता से लेकर इलाज तक का जायजा लेगी. इसके पहले कोरोना को मात देने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट के पास बने कोविड अस्पताल में 250 आईसीयू बेड बढ़ाए गए हैं. शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर रेलवे कोच में भी 800 बेड बनाए गए हैं.

‘ग्लोबल इम्प्लॉयबिलिटी रैंकिंग एण्ड सर्वे’ में रोजगार देने के मामले में IIT दिल्ली पहुंचा 27वें स्थान पर, जानिए पिछले साल का रिकॉर्ड

Previous article

बेरोजगार युवाओं को दिया जाएगा 3 लाख का ब्याज मुक्त कर्जा, दो दिन बाद सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत करेंगे योजना की शुरूआत

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured