all bank strike कल होगी बैंकों की हड़ताल, आज ही निपटा लें सारे काम

बैंक संबंधी सभी काम को आज ही न‍िपट लें, क्‍योंक‍ि कल हड़ताल रहेगी. कल यानी 26 नवंबर को ट्रेड यूनियन की हड़ताल रहेगी. इस कारण से आपको काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ सकता है. इतना ही नहीं इसके बाद एक द‍िन के लि‍ए शुक्रवार को बैंक खुलेंगे, लेकिन अगले तीन दिन बैंक बंद होने की वजह से इतना दबाव रहेगा कि आसानी से कार्य नहीं हो सकेंगे और इस तरह इसके बाद दिसंबर में ही बैंक खुलेंगे.
भारतीय स्टेट बैंक के यूनियन (ऑयबोक), एनसीबीइ और बैंक यूनियन नेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ बैंक ऑफिसर्स ने भी हड़ताल का नैतिक समर्थन किया है. हड़ताल के दौरान व्यावसायिक बैंक, ग्रामीण बैंक और सहकारी बैंक की शाखाओं में ताले लटके रहेंगे.
हड़ताल को देखते हुए आज ही आवश्यक बैंकिंग कार्य का निपटारा कर लें. हड़ताल का नोटिस ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन, ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर एसोसिएशन, बैंक इंप्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया और यूनाइटेड फोरम ऑफ ग्रामीण बैंक यूनियन ने बैंक प्रबंधन को दे दी है.

क्यों हो रही है बैंकों की हड़ताल
ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर एसोसिएशन के संयुक्त सचिव डीएन त्रिवेदी ने बताया कि हड़ताल के नोटिस में सेंट्रल ट्रेड यूनियन की सामान्य मांगों के अतिरिक्त बैंक यूनियनों ने सार्वजनिकि क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण का प्रस्ताव वापस लेने, बैंकों में जमाराशि पर ब्याज बढ़ाने व कॉरपोरेट घरानों से एनपीए ऋण की वसूली के लिए सख्त कार्रवाई करने की मांग की है. इसके साथ ही अस्थायी कर्मियों का नियमितीकरण, आउटसोर्सिंग पर प्रतिबंध, खाली पदों पर जल्द नियुक्ति, 31 मार्च 2010 के बाद योगदान करने वाले बैंककर्मियों के लिए एनपीएस के बजाय पुरानी पेंशन योजना का कार्यान्वयन और ग्रामीण बैंकों में प्रायोजक व्यावसायिक बैंकों के साथ ही 11वीं द्विपक्षीय वेतन समझौता को एक नवंबर 2017 के प्रभाव से पूर्णतः लागू करने संबंधी 10 सूत्री मांगों को शामिल किया गया है.

हड़ताल में शामिल होंगे 30,000 कर्मचारी
एआईबीईए भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और इंडियन ओवरसीज बैंक को छोड़कर ज्यादातर बैंकों का प्रतिनिधित्व करता है। महाराष्ट्र में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, पुरानी पीढ़ी के निजी क्षेत्र के बैंकों और विदेशी बैंकों के करीब 30,000 कर्मचारी हड़ताल में शामिल होंगे.

कौन-कौन ले रहे हैं हिस्सा
26 नवंबर की हड़ताल में भाग लेने वाले यूनियनों में ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (AITUC), ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (AICCTU), सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियंस (CITU), ऑल इंडिया यूनाइटेड ट्रेड यूनियन सेंटर (AIUCUC), यूनियन को-ऑर्डिनेशन सेंटर (TUCC), इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (INTUC), हिंद मजदूर सभा (HMS), सेल्फ-एम्प्लॉयड वुमेन्स एसोसिएशन (SEWA), लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन (LPF) और यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस (UTUC) शामिल हैं.

TRAI ने दूरसंचार के तरीकों में किया बदलाव, डायल नंबर से पहले 0 लगाना होगा अनिवार्य

Previous article

व्यापार में नहीं हो रही कमाई तो देवउठनी एकादशी के दिन करें ये उपाय, खूब होगी धन की वर्षा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured