मोदी के ही मंत्री ने खोली उनके संसदीय क्षेत्र की पोल, बोले- इस मामले में बहुत गंदा है वराणसी

मोदी के ही मंत्री ने खोली उनके संसदीय क्षेत्र की पोल, बोले- इस मामले में बहुत गंदा है वराणसी

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का केंद्रीय पर्यटन मंत्री केजे अलफोंस ने दो दिवसीय दौरा किया। जिस पर एक सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि वाराणसी में ट्रैफिक की समस्या से आवागमन से  पर्यटकों को मुसीबत का सामना करना पड़ता है। अल्फोंस ने वराणसी की हकीकत को बयां करते हुए नरेंद्र मोदी सरकार पर भी प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। अल्फोंस ने बताया कि वाराणसी बहुत गंदा है। वहां सफाई की जरूरत है।

 

पीएम के संसदीय क्षेत्र में गंदगी है

अल्फोंस दो दिवसीय दौरे पर वाराणसी के गंदगी को देख सच कहने के लिए मजबूर हो गए और अपनी सरकार को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि पीएम के संसदीय क्षेत्र में गंदगी है और भी कई समस्याएं मंत्री ने बतायीं। मोदी स्वच्छता अभियान के अगुआ है। और उन्हीं के संसदीय क्षेत्र में बदहाली मिले और सरकार के मंत्री इस बात को स्वीकार कर रहे हों तो ऐसे में सवाल उठना लाजमी है। जब एक तरफ सरकार अपने विकास कार्यों से खुश होकर जश्न मना रही हो और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री के ही संसदीय क्षेत्र में मूलभूत सुविधाएं जर्जर हों तो  सरकार के 4 साल के कार्यकाल में वाराणसी में हुए विकास कार्यों और स्वच्छता पर भी बड़ा सवाल खड़ा होता है।

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की 18 वीं बोर्ड बैठक मंगलवार को लेंगे सतपाल महाराज

ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है

केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री ने कहा कि वाराणसी में हालत बेहद खराब है और ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है और स्वच्छता की स्थिति भी अच्छी नहीं है। गंदगी चारों और फैली है जिसकी वजह से पर्यटक कम हो रहे हैं। केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री केजे अल्फोंस सोमवार को वाराणसी के अपने दो दिवसीय दौरे पर आए थे। यहां आने के बाद उन्होंने बनारस में पर्यटन की दृष्टि से चल रहे तमाम विकास कार्यों का जायजा लिया रामनगर सारनाथ समेत गंगा घाटों व अन्य जगहों पर जाकर उन्होंने स्थलीय निरीक्षण भी किया और आज अधिकारियों वह टूरिस्ट गाइड व ट्रैवलर्स के साथ मीटिंग के बाद उन्होंने कहा कि अभी वाराणसी के सारनाथ में 5,00,000 टूरिस्ट आ रहे हैं जो बहुत कम है।  इसको हमें 2 सालों में बढ़ाकर 10,00,000 करना है। यह हमारा सबसे बड़ा उद्देश्य है मैंने सारनाथ और वाराणसी का 2 दिनों तक निरीक्षण किया है और सारनाथ के विकास में पूरा योगदान केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय देगा।  उन्होंने कहा कि मैंने 2 दिन तक वाराणसी का भ्रमण किया और पाया कि यहां पर दिक्कतें बहुत सी हैं। सड़कों पर जाम की स्थिति सबसे बड़ा मुद्दा है स्वच्छता की दिक्कत यहां पर बहुत ज्यादा है गंदा बहुत हैं यहां पर इसको साफ करना है।

चारधाम यात्रा की तैयारी में जुटा पर्यटन विभाग, हवाई यात्राओं का अता पता नहीं

 

उत्तर प्रदेश में 6 स्वदेश दर्शन के तहत प्रोजेक्ट चल रहे हैं

आपको बता दें कि केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री ने उत्तर प्रदेश में पर्यटन की दृष्टि से अलग-अलग धार्मिक सर्किटों कामों को लेकर बताया कि उत्तर प्रदेश में 6 स्वदेश दर्शन के तहत प्रोजेक्ट चल रहे हैं। इनमें रामायण सर्किट बहुत सर्किट जैन सर्किट वह तीन अन्य हैं जिनको दिसंबर तक पूरा कर देने के लिए कहा है हेरिटेज स्थलों पर लाइटिंग बेहतर ढंग से करने की व्यवस्था की जा रही है ।