WhatsApp Image 2021 02 07 at 12.49.44 PM यूपी के गंगा किनारे बसे जिलों में अलर्ट जारी, जलस्तर पर लगी अफसरों की नजर

लखनऊ। चमोली जिले के रैनी में ग्लेशियर फटने के बाद गंगा नदी उफान पर है। उत्तराखंड में हाईअलर्ट के बाद यूपी में भी अलर्ट जारी कर दिया है। योगी सरकार के हरकत में आने के बाद अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने गंगा किनारे बसे सभी जिलों के डीएम से अलर्ट रहने को कहा है। सिंचाई विभाग ने लगतार नदी के जल स्तर पर नजर रखने को कहा गया है।
WhatsApp Image 2021 02 07 at 12.49.14 PM यूपी के गंगा किनारे बसे जिलों में अलर्ट जारी, जलस्तर पर लगी अफसरों की नजर
गंगा का जलस्तर बढ़ने की सूचना मिलने के बाद यूपी सरकार भी हरकत में आ गई है। यूपी में गंगा कई प्रमुख शहरों से होकर गुजरती है। सरकार के एक्शन में आने के बाद अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने सभी जिला अधिकारियों को अलर्ट किया है। खासतौर पर उन जिलों से अलर्ट रहने को कहा गया है जहां से होकर गंगा नदी का प्रवाह है। प्रशासन स्तर पर टीमें तैनात करने के साथ ही एनडीआरएफ और एसडीआएफ से भी अलर्ट रहने को कहा गया है।

सोशल मीडिया पर छाई घटना, कई वीडियो हुए वायरल
ग्लेशियर फटने के बाद मची तबाह के वीडियो सोशल मीडिया पर छाए रहे। स्थानीय लोगों ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिए। देखते ही देखते उत्तराखंड तबाही के वीडियो सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगे। लोग पहाड़ का हाल जानने के लिए टीवी से भी चिपके रहे।

अपनों की सलामती के लिए होती रही दुआ
मैदानी इलाकों में रह रहे चमोली और आसपास के जिलों के लोग अपनों की सलामती के लिए दुआ करते रहे। नदी में आए सैलाब के बाद वहां की सड़कें टूट गई हैं और बिजली व्यवस्था ठप हो गई है। इलाके के तमाम लोग सेना में भी तैनात हैं। ऐसे में लोग अपने-अपने घरों में फोन करके परिवार के लोगों का हालचाल लेते रहे।

आपदा में कितनों की जान गई अभी पता लगाना मुश्किल
सरकार ने आपदा में करीब 150 लोगों के मारे जाने की आशंका जताई है। वास्तव में कितने लोगों की मौत हुई है, इस बारे में अभी कुछ पता नहीं लग पाया है। नदी किनारे चल रहे प्रोजेक्ट में रविवार होने के कारण कितने लोग काम कर रहे थे इस बारे में अभी कुछ भी पता लगाना मुश्किल है।

लोगों को आई केदारनाथ आपदा की याद
टीवी और सोशल मीडिया पर उत्तराखंड का हाल देखकर लोगों को केदारनाथ आपदा की याद आ गई। केदारनाथ में भीषण तबाही में तमाम लोगों ने अपनों को खोया था। अब जोशीमठ का हाल देखकर लोग कांप उठे। उत्तराखंड में अधिक नुकसान न हो इसके लिए प्रार्थनाओं का दौर जारी है।

प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने जाना उत्तराखंड का हाल
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड का हालचाल जाना। उत्तराखंड में एडीआरएफ के साथ सेना और एयरफोर्स को भी अलर्ट कर दिया गया है। वहां बड़े पैमाने पर राहत और बचाव अभियान चलाया जा रहा है।

जोशीमठ के लिए रवाना हुए सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, श्रीनगर बांध से पानी छोड़ने के निर्देश

Previous article

दतिया फ़िल्म महोत्सव का शुभारंभ ,बुंदेलखंड क्षेत्र के हर ज़िले से फ़िल्म कलाकारों को आमंत्रित

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in #Meerut