जिम्मेदार पद पर बैठे, ना दें गैर जिम्मेदाराना बयान- अखिलेश यादव

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने ट्वीट कर केंद्र और प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भारत में कोरोना की अव्यवस्था को लेकर भाजपा सरकार की विफलता की चर्चा आज पूरी दुनिया में हो रही है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही विभिन्न देशों ने भारत जाने पर रोक लगा दी है।

वहीं इस विफलता से वैश्विक स्तर पर भारत की छवि बुरी तरह प्रभावित हुई है। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी शासनकाल में प्राणवायु तक उपलब्ध नहीं है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए पीएम मोदी और सीएम योगी से पूछा है कि अब कहाँ है डबल इंजन की सरकार?। जनता को उसके हाल पर छोड़ दिया गया है।

कोरोना काल में लगातार अटैक कर रहे अखिलेश

बता दें कि इससे पहले भी सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर करारा वार किया था। अखिलेश यादव ने कहा था कि भाजपा सरकार अफवाह फैलाने का काम कर रही है। उनका कहना था कि ऑक्सीजन की कमी नहीं है, लेकिन सड़कों की तस्वीरें झूठ नहीं बोलती। ऐसे में सरकार को अपनी बंद आंखें खोलने की जरूरत है।

इसके साथ ही अखिलेश ने कहा था कि उत्तर प्रदेश के जिम्मेदार पद पर बैठे लोग, लगातार गैर जिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं। लोगों की संपत्ति जप्त करने की धमकी दी जा रही है और जनता का मुंह बंद करने की कोशिश भी हो रही है। अखिलेश ने कहा था कि कृपया इस तरह की कोशिश ना करें।

सपा ने की थी मुफ्त इलाज की मांग

अखिलेश यादव ने लगातार दो ट्वीट किए थे जिसमें उन्होंने अपनी बात रखी थी। एक ट्वीट में अखिलेश ने समाजवादी पार्टी की मांग को आगे बढ़ाया था। उन्होंने कहा कि सपा की मांग है, मुफ्त में जांच हो, मुफ्त टीका लगे और सभी का मुफ्त इलाज हो।

देश में दवाओं की हो रही कालाबाजारी 

इसके साथ ही कोरोना के काल में जब उत्तर प्रदेश व देश दवाओं और ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रहा है। ऐसे में कालाबाजारी भी लगातार हो रही है, इन हरकतों पर सरकार की नाकामी लगातार सामने आ रही है। अखिलेश ने कहा था कि समाजवादी पार्टी चाहती है कि वैक्सीन के दामों में एकरूपता हो। देश भर में त्वरित और मुफ्त टीकाकरण की मांग हमारी पार्टी कर रही है।

बीते 24 घंटे में प्रदेश भर में कोरोना से 249 की मौत, 33574 नए मरीज

Previous article

राहत:एंटीजन में पॉजिटिव आने वाले मरीजों को अस्पताल मे भर्ती होने के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट की जरूरत नहीं

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured