कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने अन्ना हजारे के आंदोलन का किया समर्थन

रोहतक। हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने दिल्ली में सरकार के खिलाफ चल रहे अन्ना हजारे के आंदोलन का समर्थन किया है। उनका कहना है कि किसानों की आवाज उठानी चाहिए, फिर चाहे अन्ना हजारे हों या अन्य कोई। कृषि मंत्री ने कहा कि वे खुद किसान आंदोलन से जुड़े रहे हैं। धनखड़ शनिवार को रोहतक में तीन दिन तक चलने वाले तृतीय कृषि नेतृत्व सम्मेलन में शिरकत करने रोहतक पहुंचे थे।

बता दं कि कृषि मंत्री ने कहा कि देश में अलग-अलग राज्यों की परिस्थितयों के अनुसार किसान के हालात हैं और दक्षिण के कई राज्यों में किसानों ने आत्महत्याएं भी की हैं, लेकिन हरियाणा और पंजाब में किसानों के हालात अच्छे हैं। हरियाणा में किसानों पर कर्ज का बोझ नहीं है और सरकार ने बहुत सी सुविधाएं किसानों को दी हैं। किसानों की स्थिती को ओर बेहतर बनाने के लिए यह सम्मेलन आयोजित किया गया है। किसानों को व्यवसायिक खेती की ओर ले जाना सरकार का लक्ष्य है।

वहीं हम दिल्ली के सबसे नजदीक हैं और अपनी खेती को व्यवसाय के तौर पर प्रयोग करके इसका लाभ उठाया जा सकता है, इसलिए सरकार की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं। कृषि मंत्री ने कहा कि विपक्ष इस सम्मेलन को लेकर आरोप लगा रहा है, क्योंकि उन्हें पता ही नहीं है कि किस तरह के आरोप लगाने चाहिए। यह सम्मेलन किसानों की भलाई के लिए है और फिर जो सम्मान इस सम्मेलन में किसानों को दिया जाएगा, वह प्राईवेट कम्पनियां भी कर रही हैं, जिसके लिए वे कैसे मना कर सकते हैं?