WhatsApp Image 2021 01 22 at 3.54.28 PM 11वें दौर की बैठकः जानें किसानों से क्यों नाराज हुए कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

नई दिल्ली। जैसा कि सभी जानते हैं आज कि आज किसान आंदोलन को 58वां दिन है। किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली के चारों ओर डेरा डाले हुए बैठे हुए हैं। इसके साथ ही किसान संगठनों और सरकार के बीच कृषि कानूनों को लेकर 10 दौर की वार्ता हो चुकी है। जिसके चलते आज फिर एक बार सरकार और किसानों ने समझौता करने के लिए बैठक की है। जिसके चलते आज विज्ञान भवन में सरकार और किसान संगठनों के बीच 11वें दौर की वार्ता चल रही है। इसके साथ ही किसानों ने दबाव बढ़ाते हुए 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च की धमकी दी है। वहीं दूसरी तरफ बैठक की शुरुआत में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने इस बात पर नाराजगी जताई कि सरकार के प्रस्ताव पर किसान संगठनों ने अपने फैसले की जानकारी बैठक से पहले ही मीडिया के साथ साझा कर दी।

ट्रैक्टर मार्च को लेकर भी होगी चर्चा-

बता दें कि दिल्ली के विज्ञान भवन में किसानों और सरकार के बीच 11वें दौर की बातचीत जारी है। इस बीच 26 जनवरी को होने वाले ट्रैक्टर मार्च को लेकर आज किसानों और दिल्ली पुलिस की भी बैठक होने वाली है। ये बैठक भी विज्ञान भवन में ही होगी। इसके साथ ही बता दें कि सरकार की तरफ से बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और सोमप्रकाश मौजूद हैं। जानकारी के लिए बता दें कि किसानों ने अपनी तरफ से साफ कर दिया है कि कृषि कानूनों की वापसी के कम कुछ नहीं। साथ ही किसान आंदोलन लगातार उग्र होता जा रहा है। इसी बीच 11वें दौर की बैठक के शुरूआत में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से नाराजगी जताई। यह नाराजगी फैसले की जानकारी बैठक से पहले ही मीडिया के साथ साझा करने को लेकर है।

जेपी नड्डा बोले-दूसरे दलों के पास न नीति है, न नीयत है और न नेता हैं, सब परिवारवादी हैं

Previous article

प्रयागराज: वेब सीरीज ‘तांडव’ को लेकर मोरारी बापू का बयान, बोले- हर हाल में लगे रोक

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.