November 30, 2022 3:31 pm
featured देश राज्य

रेणुकाजी बहुउद्देशीय बांध परियोजना के निर्माण के लिए समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर किये गए

गडकरी रेणुकाजी बहुउद्देशीय बांध परियोजना के निर्माण के लिए समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर किये गए

केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन जयराम गडकरी और उत्तर भारत के 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने शुक्रवार को नई दिल्ली में उपरी यमुना बेसिन पर यमुना नदी की सहायक गिरी नदी पर रेणुकाजी बहुउद्देशीय बांध परियोजना के निर्माण के लिए समझौता -पत्र हस्ताक्षरित किये। आपको बता दें कि समझौता -पत्र पर जिन प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों ने हस्ताक्षर किए उनमें हरियाणा के मनोहर लाल, उत्तराखंड के त्रिवेंद्र सिंह रावत, हिमाचल के जयराम ठाकुर, दिल्ली के अरविंद केजरीवाल, उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ और राजस्थान के अशोक गहलोत शामिल हैं।

गडकरी रेणुकाजी बहुउद्देशीय बांध परियोजना के निर्माण के लिए समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर किये गए

इसे भी पढ़ें-इंदिरा गांधी ने अपने दौर के पुरुष नेताओं से बेहतर काम किया  गडकरी

हस्ताक्षर समारोह में केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्य मंत्री अर्जुन सिंह मेघवाल और सत्यपाल सिंह भी मौजूद रहे। केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन जयराम गडकरी ने इस अवसर पर मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि देश में पर्याप्त जल संसाधन हैं। राज्यों की आवश्यकता अनुसार जल उपयोग के लिए प्रस्तावित परियोजनाओं को क्रियान्वित किया जाना ही केंद्र सरकार की प्राथमिकता है।

इसे भी पढ़ें-कांग्रेस नेताओं की नाराजगी के बीच RSS कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी का जाना तय, पूर्व राष्ट्रपति ने संघ के न्योते को लेकर पहली बार तोड़ी चुप्पी

गौरतलब है कि उपरी यमुना बेसिन पर यमुना व उसकी सहायक नदियों पर निर्मित की जाने वाली तीन जल भंडारण बांध परियोजनाओं के परिणामस्वरूप हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में पर्याप्त सिंचाई व पेयजल उपलब्ध हो सकेगा। इससे यमुना नदी की क्षमता में 160 प्रतिशत की वृद्धि होगी। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि उपरी यमुना बेसिन पर यमुना व उसकी सहायक नदियों पर निर्मित की जाने वाली लखवाड बहुद्देशीय बांध परियोजना, रेणुकाजी बहुद्देशीय बांध परियोजना व किशाऊ बहुद्देशीय बांध परियोजना का 47.82 प्रतिशत जल हरियाणा प्रदेश को मिलेगा।

इसे भी पढ़ें-लखवाड़ बहुउद्देशीय परियोजना के लिए एमओयू हस्ताक्षरित

Related posts

खडसे ने बोला अपनी ही सरकार पर हमला, राज्य में मंत्रियों को बोलने की इजाजत नहीं

Breaking News

माल्या मामले में ब्रिटिश जज ने कहा- ”बंद आंख से भी दिखता है” माल्या को कर्ज देने में भारतीय अदालत ने तोड़े नियम

rituraj

कुर्सी से गिरे राजस्थान के गृहमंत्री-सुरक्षाबलों को नहीं कोई खबर

mohini kushwaha