September 16, 2021 11:59 am
featured यूपी

आगराः चंबल ने पार किया खतरे का निशान, पलायन करने के लिए मजबूर हुए ग्रामीण

आगराः चंबल ने पार किया खतरे का निशान, पलायन करने के लिए मजबूर हुए ग्रामीण

आगरा: भारी बारिश के चलते यूपी की कई नदियां उफान पर हैं। इसी कड़ी में आगरा की चंबल नदीं भी उफान पर है। चंबल नदी खतरे के निशान, जो कि 132 मीटर है, उसके पार बह रही है। जल का स्तर 133 मीटर पार पहुंच चुका है। जिसकी वजह से तटवर्ती इलाकों मे दहशत का आलम है। माना जा रहा है कि इस बार का बढ़ा जलस्तर 1996 और साल 2019 का रिकॉर्ड तोड़ देगा।

तटवर्ती इलाके में अलर्ट

दरअसल, मध्यप्रदेश में भारी बारिश के चलते नदियों का जलस्तर काफी बढ़ गया है, जिसका असर यूपी में भी दिखने लगा है। चंबल के तटवर्ती इलाकों में बाढ़ की वजह से गांवों में परेशानी बढ़ने लगी है। पानी भरने की वजह से लोग सुरक्षित स्थानों पर पलायन के लिए मजबूर हैं।

इन गांवों से टूटा संपर्क

बाढ़ी की वजह से बाह, पिनाहट, जैतपुर ब्लॉक क्षेत्र एक दर्जन भर गांवों का तहसील मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। गांव तक पहुंचने के लिए स्ट्रीमर का संचालन किया जा रहा है। वहीं, बताया जा रहा है कि पिनाहट उसैथ चंबल नदी घाट पर नदी खतरे के निशान को पार कर चुकी है।

बाढ़ में भी ताज का आकर्षण बढ़ा

लगातार हो रही बारिश के चलते यमुना नदी का जलस्तर काफी ज्यादा बढ़ गया है। यमुना नदी पूरी तरह से लबालब भरी हुई है। गर्मियों में पानी के जो स्त्रोत सूख गए थे, वह भी पूरी तरह से चर्चा हो गए। वहीं, यमुना में जलस्तर बढ़ने से ताजमहल की खूबसूरती और भी ज्यादा बढ़ गए है। पर्यटक जब पानी से भरी हुई यमुना से ताज को देख रहे हैं, तो ताज की खूबसूरती और भी ज्यादा निखर के सामने आ रही है। वहीं, पर्यटक इस पल को लेकर काफी उत्साहित हुए हैं।

Related posts

चाय बेचने से लेकर पीएम बनने तक का सफर, नरेंद्र मोदी के जीवन से जुड़े खास तथ्य

mahesh yadav

अयोध्या: सरयू में स्नान के दौरान एक ही परिवार के 12 लोग बहे, पांच की दर्दनाक मौत, चार लापता

Shailendra Singh

कॉमनवेल्थ गेम्स 2018: सेमीफाइनल में हारी भारतीय महिला हॉकी टीम, ऑस्ट्रेलिया से मिली मात

rituraj