पद्मावत के विरोध में सडक़ों पर उतरी करणी सेना, इंदौर-उज्जैन में आगजनी और चक्काजाम

भोपाल। सुप्रीम कोर्ट द्वारा फिल्म पद्मावत के प्रदर्शन पर से रोक हटाने के बाद भी देश भर में इसका विरोध जारी है। सोमवार को मध्य प्रदेश में फिल्म का विरोध और उग्र हो गया। प्रदेश भर में सोमवार को करणी सेना सडक़ों पर उतर आई और जगह जगह आगजनी और चक्काजाम कर उग्र आंदोलन किया। करणी सेना द्वारा फिल्म पद्मावत का विरोध जारी है। सोमवार को प्रदेश के भोपाल, रतलाम, इंदौर और उज्जैन सहित कई जगहों पर फिल्म का भारी विरोध हुआ। उज्जैन में फिल्म को लेकर करणी सेना का उग्र विरोध देखा गया। यहां करणी सेना ने उज्जैन-कोटा रोड पर विरोध करते हुए चक्काजाम किया।

padmavat
padmavat

बता दें कि इस दौरान उग्र हुए कार्यकर्ताओं ने टायरों में आग लगा दी जिससे पूरा यातायात बाधित हो गया और उज्जैन- कोटा रोड पर जाम लगने से वाहनों की लंबी कतार लग गई। विरोध के चलते क्षेत्र में तनाव की स्थिति बन गई है। जानकारी के मुताबिक करणी सेना ने लगातार फिल्म के विरोध का ऐलान किया है। करणी सेना के कार्यकर्ता सडक़ पर बैठकर ही विरोध जता रहे हैं। इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं। चक्काजाम की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे गए और करणी सेना के पदाधिकारियों से चर्चा कर उन्हें चक्काजाम समाप्त करने की समझाइश दी।

वहीं राजधानी भोपाल के लालघाटी चौराहा पर करणी सेना ने विरोध प्रदर्शन किया। करणी सेना की महिलाओं ने ट्रेफिक रोककर विरोध किया। इंदौर में भी हालत कुछ खराब नजर आए। यहां करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने इंदौर- देवास टोल नाके पर पहुंच कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ता बीच सडक़ पर डट गए जिससे बायपास पर लंबा जाम लग गया। विरोध के दौरान करणी सेना के कार्यकर्ता एक स्वर में फिल्म के सिनेमाघरों में प्रदर्शन पर रोक की मांग कर रहे है। विरोध को देखते हुए इंदौर से गुजरात को जाने वाली बस सेवाओं का संचालन बंद कर दिया गया है।