शेयर बाजार में शानदार तेजी के बाद हाहाकार, 500 अंक लुढ़का सेंसेक्स

मुंबई। इस सप्ताह लगातार गिरावट में रहा सेंसेक्स ने बीते गुरुवार को 330 अंक से ज्यादा की रिकवरी की, लेकिन शुक्रवार को बाजार की यह तेजी कायम नहीं रह सकी और कारोबार शुरू होते ही हाहाकार मच गया। बाजार अब तक 500 से ज्यादा अंकों तक लुढ़क चुका है। आईटी, बैंकिंग और रियल्टी के शेयरों के साथ ही छोटे व मंझोले कंपनियों के शेयर औंधे मुंह गिर पड़े। शुक्रवार को बाजार के लिए ब्लैक फ्राइडे बन गया। कारोबारी सप्ताह के आखिरी दिन शेयर बाजार में खुलते ही बड़ी गिरावट देखने को मिली।

Sensex
Sensex

बता दें कि साल 2018 में पहली बार निफ्टी 10,400 अंक के नीचे चला गया। निफ्टी 178.65 अंक की गिरावट के साथ 10,398.2 अंक तक गिर गया। वहीं सेंसेक्स में भी 563 अंक की गिरावट देखने को मिली है। सेंसेक्स इस महीने के निचले स्तर 33,849 पर पहुंच गया।शुरुआती कारोबार में लार्ज कैप शेयरों के साथ मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली हावी रही, जिससे निवेशकों को 2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ है। 11.30 बजे तक बाजार का कुल कैपिटलाइजेशन 1,46,73,186 करोड़ रुपए रह गया है। बता दें कि बजट पेश होने के बाद से लगातार शेयर बाजार की स्थिति डांवाडोल हो रही है।

हालांकि वैश्विक मार्केट भी लगातार गिर रहे हैं, जिससे भारतीय बाजातों पर दबाव बढ़ गया है। एस एंड पी बीएसई इंडेक्स 33,946.15 अंक पर कारोबार कर रहा था। इसमें अब तक 467.01 अंक की गिरावट दर्ज हुई है, जबकि सेंसेक्स 50 का इंडेक्स 145.92 अंक की गिरावट के साथ 10,881 अंक पर, सेंसेक्स नेक्स्ट 50 का इंडेक्स 343.23 अंक की गिरावट के साथ 34,288.91 अंक पर , बीएसई 100 का इंडेक्स 139.30 अंक की गिरावट के साथ 10,819.09 अंक पर ट्रेंड कर रहा था। बीएसई भारत 22 इंडेक्स में भी 39.59 अंक की गिरावट रही और यह 3,672.84 अंक पर कारोबार कर रहा था। शेयर बाजार में पंजीकृत 2,623 कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 1,46,73,186 रह गया है।