hamla काबुल में राष्टपति भवन के पास रॉकेट से हमला, अशरफ गनी पढ़ रहे थे बकरीद की नमाज

काबुल: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में स्थित राष्ट्रपति भवन के पास एक रॉकेट से हमला किया गया है। यह हमला तब हुआ जब राष्टपति अशरफ गनी बकरीद की नमाज अदा कर रहे थे। आपको बता दें कि विदेशी सेना वापस होने के बाद से ही तालिबान लगातार अफगानिस्तान के शहरों पर कब्जा करता जा रहा है। काबुल के परवान क्षेत्र से एक कार के जरिए तीन मिसाइलों को दागा गया है। ये मिसाइलें बाग-ए-अली मरदा चमन-ए-हुजुरी और पुलिस डिस्ट्रिक्ट क्षेत्र में गिरी हैं।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन रॉकेट्स को स्थानीय समय के मुताबिक सुबह आठ बजे कार के जरिए दागा गया। इस दौरान किलेनुमा ग्रीन जोन में धमाकों की आवाजों को सुना गय।. ग्रीन में राष्ट्रपति भवन के अलावा दुनिया के कई देशों के दूतावास और अन्य प्रमुख इमारतें मौजूद हैं। इसके अलावा यहां पर अमेरिकी मिशन भी मौजूद है। इस इलाके में सुरक्षा सबसे अधिक होती है।

हमलों में किसी का नहीं हुआ नुकसान

अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय ने कहा कि ईद-अल-अजहा की छुट्टियों को शुरुआत के अवसर पर राष्ट्रपति अशरफ गनी के भाषण से पहले मंगलवार को कम से कम तीन रॉकेट से राजधानी में हमला किया गया। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता मिरवाइज स्टानिकजई ने कहा कि आज अफगानिस्तान के दुश्मनों ने काबुल शहर के विभिन्न हिस्सों में रॉकेट हमले किए। इन रॉकेट्स ने तीन जगहों को निशाना बनाया। हालांकि, इन हमलों में कोई हताहत नहीं हुआ है। फिलहाल मामले की जांच चल रही है।

अफगानिस्तान पर कब्जा करने में जुटा तालिबान

ये हमला ऐसे वक्त में हुआ है, जब देश के अलग-अलग हिस्सों पर तालिबान तेजी से कब्जा जमाने में जुटा हुआ है। अफगानिस्तान में मौजूद विदेशी बलों की वापसी 31 अगस्त तक पूरी हो जाएगी। इसके बाद से ही तालिबान ने अपनी गतिविधियों को बढ़ा दिया है। इसने देश के कई प्रमुख बॉर्डर क्रॉसिंग पर कब्जा जमाना शुरू कर दिया है। इसके अलावा, कई प्रांतों की राजधानियों को तालिबानी लड़ाकों ने घेर लिया है।

कोरोना की तीसरी लहर से घबरायें नहीं, सावधानी बरतें : डॉ. विशेष गुप्ता

Previous article

उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की बनी रणनीति

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured