प्रशासन ने इंटरनेट सेवा बंद करके मनवाई आंबेडकर जयंती

मेरठ: आरक्षण को लेकर बीती दो अप्रैल को हुए बवाल के बाद पुलिस प्रशासन ने शनिवार को डाॅ. भीमराव आंबेडकर जयंती पर पुख्ता इंतजाम किए। प्रशासन ने शुक्रवार रात दस बजे ही इंटरनेट सेवा बंद कर दी, जो शनिवार की देर रात जाकर शुरू हो पाई। आंबेडकर जयंती पर मेरठ जनपद में 140 स्थानों पर रंगारंग कार्यक्रम हुए और शोभा यात्राएं निकाली गई। सुरक्षा के लिहाज से भारी पुलिस बल तैनात किया गया। आंबेडकर जयंती को शांतिपूर्वक मनवाने के लिए पुलिस प्रशासन ने अपनी ओर से पुख्ता इंतजाम किए। तमाम अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए शुक्रवार की रात दस बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई। इससे लोगों का सोशल मीडिया से कनेक्शन कट गया। यह इंटरनेट सेवाएं शनिवार की देर रात ही शुरू हो पाई।

 

File Photo

 

सुरक्षा के रहे पुख्ता इंतजाम

आंबेडकर जयंती के कार्यक्रमों के आयोजन के लिए इस बार प्रशासन ने अनुमति लेने की व्यवस्था कराई। प्रशासन ने 140 स्थानों पर आंबेडकर जयंती मनाने की अनुमति दी। इस दौरान रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए। सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने सबसे पहले शास्त्रीनगर में कुटी चौराहा स्थित डाॅ. आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इसके बाद कचहरी के पास आंबेडकर चौराहे पर स्थित डाॅ. भीमराम आंबेडकर की प्रतिमा पर सांसद राजेंद्र अग्रवाल, डाॅ. लक्ष्मीकांत बाजपेयी, विधायक सत्यवीर त्यागी, विधायक डाॅ. सोमेंद्र तोमर आदि ने माल्यार्पण किया। इस दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए। रोहटा में भीमराव आंबेडकर की शोभायात्रा निकाली गई। महानगर में दोपहर को भैंसाली मैदान से बड़ी शोभा यात्रा निकाली गई। इसमें शामिल झांकियों में डाॅ. आंबेडकर के जीवन की झलक दिखाई गई थी।

 

सरकारी कार्यालयों में भी मनी जयंती

14 अप्रैल को द्वितीय शनिवार होने के बाद भी सरकारी कार्यालयों में आंबेडकर जयंती पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। अधिकारियों और कर्मचारियों ने डाॅ. भीमराव रामजी आंबेडकर को उनके कार्यों के लिए याद किया और विचार गोष्ठी के जरिए उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। कमिश्नरी में आयुक्त डाॅ. प्रभात कुमार, कलेक्ट्रेट पर जिलाधिकारी अनिल ढींगरा, एसएसपी कार्यालय पर एसएसपी मंजिल सैनी की अगुवाई में आंबेडकर जयंती मनाई गई।

 

इस कारण बंद की गई इंटरनेट सेवा

शहर में दलित हिंसा के दौरान दो अप्रैल को हिंसा हुई थी। इसके बाद शहर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी। इसके बाद सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाहों पर लगाम लगी थी। हिंसा भड़काने वाले मैसेज और वीडियो पर काबू किया गया था। ऐसे में 14 अप्रैल को डा. भीमराव अंबेडकर जयंती को लेकर पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए। पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। इसके अलावा शुक्रवार रात नौ बजे से ही जिले भर में डीएम अनिल ढींगरा के आदेश पर इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। डीएम के आदेश के अनुसार इंटरनेट सेवा शनिवार शाम आठ बजे तक बंद रही।