यौन शोषण के विरोध में इस अभिनेत्री ने टॉपलेस किया प्रदर्शन

नई दिल्ली। कास्‍टिंग काउच के मामलें अक्सर सामनें आते रहते हैं। और बॉलीवुड में यें आम बात होती हैं। और कई बार लोग अलग अलग तरीके से विरोध करते हैं। बता दे कि तेलुगू फिल्‍म की स्‍ट्रगलिंग एक्‍ट्रेस ने विरोध का एक नया तरीका निकाला है जिसमें वह फिल्‍म चैंबर के बाहर टॉपलेस होकर सड़क पर बैठ गईं। बता दे कि उस एक्‍ट्रेस का नाम श्री रेड्डी था जो कि तेलुगू फिल्‍मों की स्‍ट्रगलिंग एक्‍ट्रेस हैं जिसने शनिवार को हैदराबाद में फिल्‍म चैंबर के बाहर टॉपलेस होकर कास्‍टिंग काउच के विरोध में प्रदर्शन किया।

बता दे कि देखते ही देखते वहां मीडिया भी पहुंच गई। बता दे कि यें जगह हैदराबाद के पॉश जुबली हि‍ल्स में है। मीडिया से बातचीत में रेड्डी ने कहा कि टॉलीवुड में 75 प्रतिशत स्‍थानीय कलाकारों को मौका दिया जाए। हालांकि श्री रेड्डी के इन आरोपों को टॉलीवुड ने नकार दिया है। प्रदर्शन की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने अभिनेत्री को हिरासत में ले लिया है और पूछताछ कर रही है। विस्‍तार से जानिए पूर मामला श्री रेड्डी ने मांगा आरक्षण श्री रेड्डी ने टॉलीवुड की कई बड़ी हस्‍तियों पर कास्‍टिंग काउच का आरोप लगाया है। उन्होंने टॉलीवुड में स्थानीय कलाकारों के लिए 75 प्रतिशत रिजर्वेशन की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि टॉलीवुड में बाहर के लोगों का दबदबा बढ़ता जा रहा है जिसके कारण स्‍थानीय लोगों को मौके नहीं मिल पा रहे हैं।

बीच सड़क श्री रेड्डी के टॉपलेस होने से सब हैरान श्री रेड्डी के प्रदर्शन के तरीके ने सभी को हैरान कर दिया। कास्टिंग काउच का ये ऐसा पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी न जाने कितने ऐसे मामले सामने आए। लेकिन इस तरह अपना गुस्सा और विरोध पहले किसे ने भी जाहिर नहीं किया था। फिल्मी दुनिया में इस तरह से हो रहे शोषण के लिए एक कैंपेन चलाया गया था। #MeeToo नाम के इस कैंपेन से अबतक बहुत सारे सेलिब्रिटी जुड़ चुके हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने साथ हुए शोषण के किस्सों का खुलासा किया है।

कई बड़े नामों के खुलासे की धमकी कुछ दिन पहले ही श्री रेड्डी ने सोशल मीडिया पर साउथ फिल्म इंडस्ट्री के कई डायरेक्टर्स और एक्टर्स पर कास्टिंग काउच का आरोप लगाया था। हाल ही में इस एक्ट्रेस के आरोपों के खि‍लाफ एक जाने माने डायरेक्टरए एक्टर और राजनेता ने पुलिस शि‍कायत भी दर्ज करवाई थी।
श्री रेड्डी ने कहा- मुद्दे को बड़ा बना दूंगी उन्होंने कहा, ‘मुझे यही एक तरीका नजर आया खुद की परेशानी और फ्रस्टेशन को जाहिर करने का। मैंने फिल्म इंडस्ट्री में कई लोगों को उनकी मांग पर न्यूड तस्वीरें भेजीं लेकिन बदले में मुझे कोई रोल नहीं मिला।’ एक्ट्रेस ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर फिल्म प्रड्यूसर्स ने लोकल टैलंट को बढ़ावा नहीं दिया तो वह इस मुद्दे को और बड़ा बना देंगी।
फिल्‍म में रोल देने के नाम पर शोषण श्री रेड्डी ने कहा डायरेक्‍टर्स मुंबई और दूसरे शहरों से ऐक्ट्रेस को लाते हैं जबकि स्थानीय लड़कियों को रोल देने के नाम पर यौन शोषण किया जाता है।’ बता दें कि पहले भी कई अभिनेत्रियां तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच का मुद्दा उठा चुकी हैं।

क्‍या होता है कास्टिंग काउच कास्टिंग काउच उस अनैतिक और गैर-कानूनी व्यवहार को कहते है, जिसमें किसी को काम दिलाने के बदले शारीरिक संबंध बनाने की मांग की जाती है। अक्सर सीनियर लोग नए आए जूनियर्स से ऐसी मांग करते हैं। हालांकि फिल्मी जगत में इससे जुड़े किस्सों के चलते लोग कास्टिंग काउच जैसी धारणा से रूबरू हुए, मगर ये किसी भी फील्ड में हो सकता है।

डायरेक्‍टर्स के ऑफिस में रखा सोफा शाब्दिक अर्थ पर जाएं तो इसे समझना ज्यादा आसान होगा। काउच का मतलब होता है सोफा। ये निर्देशक और निर्माताओं के कार्यालय में रखे सोफे की ओर इशारा करता है जहां महत्वाकांक्षी अभिनेताओं-अभिनेत्रियों के इंटरव्यू होते हैं। कास्टिंग का मतलब है किसी को फ़िल्म का हिस्सा बनाना अथवा उसे कास्ट करना।
बता दे कि फिल्मों में कास्टिंग काउच के मामलें दिनो दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। और यें अपने आप में बेहद ही गलत बात हैं।