लापरवाही के चलते CMO lucknow पर गिरी गाज, इन्हें बनाया गया प्रभारी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के CMO lucknow पर लगातार  लापरवाही और गैर जिम्मेदाराना हरकतों का आरोप लग रहा था। जिसका खामियाजा उन्हें अब भुगतना पड़ रहा है। कोविड प्रबंधन की जिम्मेदारी उनसे छीन ली गई है।

डॉक्टर जीएस बाजपेई को मिला प्रभार

कोरोना काल में जिम्मेदारी सही तरीके से ना संभालने के कारण लखनऊ के सीएमओ को अब डॉक्टर जी एस बाजपेई को रिपोर्ट करना होगा। डॉक्टर बाजपेई को ही कोविड प्रबंधन का प्रभारी बनाया गया है। लखनऊ में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति काफी खराब है। ऐसे में नया बदलाव भी जरूरी हो गया था, लगातार CMO lucknow डॉ संजय भटनागर पर कई तरीके के आरोप लग रहे थे। इसके अलावा बिगड़ते हालात पर स्थितियों से नियंत्रित नहीं हो रही थी, इसीलिए यह निर्णय लिया गया है।

सहायता के लिए नियुक्त किए गए तीन अधिकारी

इसके साथ ही डॉक्टर जी एस बाजपेई की सहायता के लिए संयुक्त निदेशक स्तर के तीन अधिकारियों को नियुक्त किया गया है। जिनकी निगरानी में संक्रमण की स्थिति और व्यवस्थाओं पर नजर रखी जाएगी। डॉ संजय भटनागर अब इन्हें ही रिपोर्ट करेंगे।

इसके पहले प्रदेश सरकार के मंत्री और कई अन्य लोगों के द्वारा सीएमओ पर लापरवाही करने, फोन ना उठाने जैसे कई आरोप लग रहे थे। स्वास्थ्य व्यवस्थाओं में भी भारी लापरवाही पर उनका ढीला बर्ताव सरकार और जनता दोनों को पसंद नहीं आया।

Aayudh Advance: 4 दिन में कोरोना से ठीक करने का दावा, दवा अहमदाबाद में हुई लॉन्च !

Previous article

नवरात्र के सातवें दिन होती है मां कालरात्रि की पूजा, जानिए पूजन-विधि

Next article

Comments

Comments are closed.