4db29016 3adc 4094 8e5f b5464a1549c4 आगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के मुख्य आरोपी सक्सेना ने पूछताछ में किया कांग्रेस के कई दिग्गजों का जिक्र, कमलनाथ ने दी सफाई
फाइल फोटो

नई दिल्ली। आगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाला दिन प्रतिदिन तूल पकड़ता जा रहा है। यह घोटाला भारत द्वारा आगस्त वेस्टलैंड कंपनी से खरीदे जा रहे हेलिकॉप्टरों से संबंधित है। यह घोटाला 2013-14 में सामने आया। जिसके चलते इस घोटाल में भारतीय राजनेताओं एवं सैन्य अधिकारियों पर आगस्त वेस्टलैंड से मोटी घूम लेने का आरोप लगा था। जिसके बाद पुलिस घोटाले के मुख्य आरोपी राजीव सक्सेना चार्टर्ड अकाउंटेंट को गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद उन्हें जमानत दे दी गई थी। जिसके बाद उन्हें 2019 में दुबई से प्रत्यर्पित करवाकर भारत लाया गया था। जब राजीव सक्सेना से पूछताछ की गई तो उन्होंने कांग्रेस के कई बड़े नेताओ के नाम का खुलासा किया है। जिसमें मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी के साथ उनके बेटे बकुल नाथ का नाम शामिल है। इसके साथ ही अन्य का भी जिक्र किया गया है।

इंडियन एक्सप्रेस के पास राजीव सक्सेना के 1000 पेज का बयान-

बता दें कि जमानत पर चल रहे राजीव सक्सेना चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और इस मामले में मुख्य आरोपी हैं। उन्हें जनवरी 2019 में दुबई से प्रत्यर्पित करवाकर भारत लाया गया था। ईडी ने उनकी 385 करोड़ की संपत्ति को अटैच किया था और इसके बाद पूछताछ की। आरोपी राजीव सक्सेना ने पूछताछ में कई बड़े कांग्रेस नेताओं के नामों का जिक्र किया है। इसमें मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी के अलावा उनके बेटे बकुल नाथ का भी नाम है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी राजीव सक्सेना ने सलमान खुर्शीद और अहमद पटेल का भी जिक्र किया है। इंडियन एक्सप्रेस के पास राजीव सक्सेना के 1000 पेज का बयान है जो उन्होंने ईडी के सामने दिए है। सक्सेना ने ईडी को बताया कि आरोपी डिफेंस डीलर सुशेन मोहन गुप्ता की कंपनी इंटर्सटेलर टेक्नॉलजीज के जरिए अगस्ता वेस्टलैंड से अवैध धन आया है। इस कंपनी को गौतम खेतान सुशेन मोहन गुप्ता के जरिए चलाते हैं। प्रवर्तन निदेशालय सुषेण मोहन गुप्ता और गौतम खेतान दोनों को गिरफ्तार कर चुका है और दोनों जमानत पर हैं।

जानिए किस के लिए होता था ‘एपी’ का इस्तेमाल-

सक्सेना के अनुसार सुषेण मोहन गुप्ता और गौतम खेतान बातचीत में घोटाले का लाभ लेने वाले राजनीतिज्ञों में ‘एपी’ का नाम लेते थे। सक्सेना के अनुसार ‘एपी’ का इस्तेमाल अहमद पटेल के लिए किया जाता था। इसके अलावा उन्होंने सत्ता में अपनी पहुंच को दिखाने के लिए तत्काल राजनीति के बड़े लोगों का नाम लिया। उन्होंने कई बार सलमान खुर्शीद और कमल चाचा का जिक्र किया जो कि मेरे हिसाब से कमलनाथ के लिए था। कमलनाथ ने इस मामले में कहा कि भतीजे रतुल पुरी की कंपनियों और लेनदेन से उनका कोई ताल्लुक नहीं है। मेरा बेटा बकुलनाथ दुबई का एनआरआई है। उसने कहा कि इस कंपनी के बारे में कुछ नहीं जानता। ऐसे कोई दस्तावेज नहीं हैं जो उसके साथ कनेक्शन की पुष्टि करते हों। कोई भी एक ऑफशोर अकाउंट खोलकर किसी भी बेनिफिशरी ओनर का नाम डाल सकता है।

खुर्शीद ने सुशेन मोहन पर लगे आरोपों को नकारा-

वहीं सलमान खुर्शीद ने कहा कि उन्हें आश्चर्य है कि अगस्ता वेस्टलैंड की जांच में उनके नाम का इस्तेमाल किया गया। सुशेन मोहन के बेटे देव मोहन हमारे दोस्त हैं और मैं उनका शुभचिंतक हूं। जितना मैं जानता हूं मुझे नहीं लगता है कि उनका रतुल पुरी या राजीव सक्सेना के साथ कोई संबंध है।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

पीएम मोदी ने किया निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन को फोन, दोनों नेताओं के बीच इन मुद्दों पर हुई बात

Previous article

20000 की रेंज में ये 5 स्मार्टफोन बन सकते हैं आपकी पसंद, जानिए इनके फीचर्स और कीमत के बारे में

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.