अभ्युदय योजना यूपी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभ्युदय केवल कोचिंग नहीं है। आने वाले वक्त में यह पहल युवाओं की मार्गदर्शक बनेगी। जिससे वो अपने सपने साकार कर सकेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा प्रदेश के युवा सपने देखें। इन सपनों को साकार करने के लिए कदम बढ़ाएं। सपना चाहे सिविल सेवा हो या नीट, जेईई, एनडीए और सीडीएस जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं का, सरकार सबके लिए बेहतरीन कोचिंग देगी। अब प्रदेश का एक भी युवा, स्तरीय गाइडेंस के अभाव में सफ़लता से वंचित नहीं रहेगा।
अभ्युदय योजना1
मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘अभ्युदय’ महज एक कोचिंग नहीं, बल्कि जीवन निर्माण का पथ-प्रदर्शक है। युवा पूरे मन से अपनी हौसलों की उड़ान भरें, सफलता के हर  संसाधन सरकार मुहैया कराएगी।

मुख्यमंत्री अपने आवास पर अभिनव योजना ‘अभ्युदय’ का शुभारंभ के अवसर पर युवाओं से संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रारंभ में मंडल स्तर पर शुरू ही रही ‘अभ्युदय कक्षाओं’ को समय के साथ परिष्कृत करते हुए जिलों तक विस्तार दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने युवाओं को भरोसा दिलाया कि अभ्युदय कक्षाओं में देश-दुनिया की सर्वश्रेष्ठ फैकल्टी उपलब्ध होगी। आईएएस, आईपीएस, आईएफएस (वन सेवा), पीएसीएस जैसी सेवाओं के लिए सफल हो चुके वरिष्ठ अधिकारियों का मार्गदर्शन मिलेगा। सिविल सेवा, नीट, जेईई, बैंकिंग, एनडीए, सीडीएस आदि के क्षेत्र में प्रतिष्ठित विशेषज्ञ शिक्षक भी उपलब्ध होंगे।

इस योजना में अब तक पांच लाख युवाओं ने पंजीकरण कराया है। जिसमें ऑनलाइन परीक्षा के आधार पर करीब 50 हजार का चयन ऑफलाइन कक्षाओं के लिए हुआ है। यह कक्षायें बसंत पंचमी से सभी 18  मंडलों पर निर्धारित समय-सारिणी के अनुसार चलेंगी।

बाकी प्रतियोगी छात्र ऑनलाइन पोर्टल पर वर्चुअल कक्षाओं का लाभ उठा सकेंगे। ऑनलाइन पोर्टल पर वीडियो लेक्चर, स्टडी मैटेरियल और जिज्ञासा समाधान की व्यवस्था की गई है।

वृंदावन कुंभ मेले का शुभारंभ, भव्‍य तैयारियां और रोचक इतिहास

Previous article

वाराणसी के दो और गांवों को मोदी ने लिया गोद, बनेंगे आदर्श ग्राम

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.